गैस की कीमतों का सर्दी से है तगड़ा कनेक्शन, पेट्रोलियम मंत्री का दावा

0 278

डीजल-पेट्रोल और गैस की कीमतों में हो रही बढोत्तरी को लेकर पूरे देश में हंगामा मचा हुआ है. एक तरफ विपक्ष सरकार को घेरने में लगी है तो दूसरी ओर सड़कों पर जनता का गुस्सा देखने को मिल रहा है. इस बीच पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने गैस की बढ़ती कीमतों को लेकर खुलासा किया. उन्होंने कहा कि गैस की कीमतों का सीधा कनेक्शन ठंड के मौसम से है. उन्होंने कहा कि सर्दी के कारण गैस का दाम बढ़ा है. जैस-जैसे मौसम बदलेगा, कीमतों में कमी होगी. उन्होंने कहा कि यह अंतरराष्ट्रीय मामला है. जैसे-जैसे सर्दियां कम होंगी, गैस का दाम भी घटेगा.

डीजल-पेट्रोल के दामों पर तोड़ी चुप्पी

पेट्रो मूल्य वृद्धि पर बोलते हुए केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि दो कारणों से अभी दिक्कतें दिख रहीं हैं और हमें लगता है कि वो भी ज़्यादा समय तक नहीं रहेगा. अंतरराष्ट्रीय बाज़ार में जैस ही उत्पादन बढ़ेगा, उम्मीद है कि डीजल-पेट्रोल के मूल्यों में थोड़ी नरमी आएंगी. उन्होंने कहा कि दाम बढ़ोत्तरी के दो मूल कारण हैं एक तो कोरोना के कारण उत्पादन में कटौती हुई थी. उत्पादनकारी देश तेल उत्पादन कम किये थे. उन दिनों में तेल उत्पादन काम करने का एक प्रमुख कारण था, आवश्यकता यानी डिमांड नहीं थी. कैबिनेट मिनिस्टर ने कहा कि जनवरी, फरवरी में जो आवश्यकता है उसे पूरा करने के लिए अभी उत्पाद नहीं हुआ है. ये एक प्रमुख कारण है.

बाबा दरबार में लगाई हाजिरी

पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान दोपहर में काशी विश्वनाथ मंदिर दर्शन पूजन के लिए पहुंचे. बाबा दरबार में काशी विश्वनाथ धाम का इस दौरान उन्‍होंने अवलोकन भी किया. वहीं मंदिर में दर्शन के दौरान सुरक्षा व्‍यवस्‍था भी चुस्‍त दुरुस्‍त रही. बाबा दरबार में हाजिरी लगाने के बाद वह शहर के अन्‍य आयोजनों में भी हिस्‍सा लेंगे. पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान बाबा दरबार में दर्शन पूजन करने के बाद बाबा काल भैरव मंदिर में भी दर्शन पूजन करने पहुंचे. इसके बाद वह विश्राम करने के लिए बरेका गेस्‍ट हाउस रवाना हो गए. बरेका गेस्ट हाउस पहुंचे पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने पार्टी कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों से मुलाकात कर उनका हाल चाल लिया.

 

Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More