यूपी बजट 2021-22 में महिलाओं के लिए क्या है खास ?

0 322

लखनऊ विधानसभा में वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने यूपी का 2021-22 का बजट प्रस्तुत किया। इस दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी मौजूद रहे।

वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित की अनुमति लेकर योगी सरकार के कार्यकाल का अंतिम बजट पेश कर दिया है।

वित्त मंत्री सुरेश कुमार खन्ना ने सोमवार को योगी सरकार का पांचवां बजट पेश किया। इस दौरान वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने कई अहम ऐलान किए।

बजट के मुख्य बिन्दु-

मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना को और परिष्कृत कर लागू किये जाने का निर्णय, जिसके अन्तर्गत सभी पात्र बालिकाओं को टैबलेट उपलब्ध कराने हेतु 1200 करोड़ रुपये की बजट व्यवस्था प्रस्तावित।

महिलाओं एवं बच्चों में कुपोषण की समस्या के निदान हेतु मुख्यमंत्री सक्षम सुपोषण योजना वित्तीय वर्ष 2021-22 से क्रियान्वित की जायेगी। इस योजना हेतु 100 करोड़ रुपये की बजट व्यवस्था प्रस्तावित।

पुष्टाहार कार्यक्रम हेतु 4094 करोड़ रुपये तथा राष्ट्रीय पोषण अभियान हेतु 415 करोड़ रुपये की बजट व्यवस्था प्रस्तावित।

वित्तीय वर्ष 2021-2022 से महिला सामर्थ्य योजना के नाम से एक नई योजना क्रियान्वित की जायेगी। इस हेतु 200 करोड़ रुपये की व्यवस्था प्रस्तावित।

महिला शक्ति केन्द्रों की स्थापना हेतु 32 करोड़ रुपये की बजट व्यवस्था प्रस्तावित।

1535 महिला हेल्प डेस्क की स्थापना-

महिलाओं और बालिकाओं की सुरक्षा के लिए प्रदेश के सभी जनपदों के समस्त थानों में 1535 महिला हेल्प डेस्क की स्थापना की गई।

महिला और बालिकाओं के खिलाफ अपराध के उचित रोकथाम के लिए यूपी पुलिस द्वारा 1 नवंबर 2020 से 30 नवंबर 2020 तक विशेष अभियान मिशन शक्ति चलाया गया जिसके उत्साहवर्धक परिणाम मिले।

प्रत्येक तहसील में महिला हेल्प डेस्क की स्थापना।

यह भी पढ़ें: बिहार के विधायकों का अनोखा अंदाज, कोई मिट्टी का चूल्हा लेकर तो कोई साइकिल से पहुंचा विधानसभा

यह भी पढ़ें: यूपी का विधानसभा चुनाव लड़ेगी आम आदमी पार्टी

-Adv-

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं। अगर आप डेलीहंट या शेयरचैट इस्तेमाल करते हैं तो हमसे जुड़ें।)

 

Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More