विकास दुबे एनकांउटर पर बोलीं प्रियंका-अपराधी का अंत हो गया, उसको संरक्षण देने वालों का क्या?

0 2,384

कानपुर में 8 पुलिसकर्मियों की हत्या के मामले में मुख्य आरोपी गैंगस्टर विकास दुबे शुक्रवार को कानपुर में पुलिस मुठभेड़ में मारा गया है। इसे लेकर कांग्रेस पार्टी की महासचिव प्रियंका गांधी ने सवाल उठाएं हैं। उन्होंने कहा कि अपराधी का तो अंत हो गया संरक्षण देने वालों का क्या होगा?

प्रियंका गांधी ने ट्वीटर के माध्यम से कुख्यात अपराधी विकास दुबे की एनकांउटर की दौरान मौत को लेकर सवाल उठाए हैं। उन्होंने कहा कि “अपराधी का अंत हो गया, अपराध और उसको संरक्षण देने वाले लोगों का क्या होगा।”

प्रियंका के निशाने पर योगी सरकार-

इससे पहले भी उन्होंने कहा था कि “कानपुर के जघन्य हत्याकांड में यूपी सरकार को जिस मुस्तैदी से काम करना चाहिए था, वह पूरी तरह फेल साबित हुई। अलर्ट के बावजूद आरोपी का उज्जैन तक पहुंचना न सिर्फ सुरक्षा के दावों की पोल खोलता है, बल्कि मिलीभगत की ओर इशारा करता है।”

ज्ञात हो कि मध्य प्रदेश में उज्जैन के महाकाल मंदिर के बाहर पकड़ा गया दुर्दात विकास दुबे शुक्रवार को कानपुर में उत्तर प्रदेश एसटीएफ के साथ मुठभेड़ में ढेर हो गया। कानपुर के चौबेपुर के बिकरू गांव में सीओ सहित आठ पुलिसकर्मियों की हत्या के मुख्य आरोपित विकास दुबे की कानपुर में एसटीएफ के साथ मुठभेड़ हो गई।

भागने की कोशिश में मारा विकास-

कानपुर के एसएसपी दिनेश पी. ने विकास दुबे के मुठभेड़ में मारे जाने की पुष्टि की है। एसएसपी दिनेश कुमार पी. के मुताबिक गाड़ी पलटने के बाद विकास दुबे पुलिस वालों के हथियार लेकर भाग रहा था। पुलिस ने उसे रोकने की कोशिश की तो उसने फायरिंग की और जवाबी कार्रवाई में विकास दुबे मुठभेड़ में मारा गया।

vikas dubey death

वहीं इस पूरे घटनाक्रम पर मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने सवाल उठाते हुए कहा है कि अब विकास और राजनेताओं व पुलिस अफसरों का संपर्क उजागर नहीं हो पाएगा। विकास दुबे के मुठभेड़ में मारे जाने के बाद दिग्विजय सिंह ने ट्वीट कर कहा कि जिसका शक था वह हो गया।

दिग्विजय का बड़ा सवाल-

विकास दुबे का किन-किन राजनीतिक लोगों से, पुलिस व अन्य शासकीय अधिकारियों से संपर्क था, अब उजागर नहीं हो पाएगा। पिछले तीन-चार दिनों में विकास दुबे के दो अन्य साथियों का भी एनकाउंटर हुआ है लेकिन तीनों एनकाउंटर का पैटर्न एक समान क्यों है?

दिग्विजय सिंह ने जांच की मांग करते हुए कहा कि यह पता लगाना आवश्यक है विकास दुबे ने मध्य प्रदेश के उज्जैन महाकाल मंदिर को सरेंडर के लिए क्यों चुना? मध्यप्रदेश के कौन से प्रभावशाली व्यक्ति के भरोसे वो यहां उत्तर प्रदेश पुलिस के एनकाउंटर से बचने आया था?

यह भी पढ़ें: फिल्मी स्टाइल में हुई मुठभेड़, इस तरह मारा गया गैंगस्टर विकास दुबे

यह भी पढ़ें: फिल्मी है गैंगस्टर विकास दुबे की लव स्टोरी, तान दी थी सास-ससुर के कनपटी पर पिस्टल

-Adv-

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं। अगर आप हेलो एप्पडेलीहंट या शेयरचैट इस्तेमाल करते हैं तो हमसे जुड़ें।)

Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More