कश्मीर में प्लॉट और घर चाहिए?

नचिकेता देसाई

मुस्लिम बहुल कश्मीर में प्लॉट और घर चाहिए। लेकिन अपने घर का कमरा किराये पर किसी मुसलमान को नहीं देंगे। मुहल्ले में भी कोई मुस्लिम आ जाये तो उसका जीना हराम कर देंगे।

कश्मीर में जाकर सेब के बाग लगाने हैं, लेकिन ज़ोमैटो पर मुस्लिम डिलीवरी बॉय से खाना नहीं लेंगे।

कश्मीरी मुस्लिम लड़कियों से विवाह के सपने पाले हुए हैं। लेकिन अगर कोई मुस्लिम लड़का और हिन्दू लड़की शादी कर ले तो लव जिहाद कहते हैं।

घटियापन और मूर्खता का मिश्रण होती है भक्त प्रजाति।

मैंने खुद यह देखा है। मैंने एक मुसलमान युगल को अपना फ्लैट किराये पर दिया था। मेरे पड़ोसियों ने उन्हें नल से पीने का पानी तक नहीं लेने दिया। एक सप्ताह में उन्हें मजबूर हो कर घर छोड़ना पड़ा।

मेरे दो पत्रकार सहकर्मी – केरल का मुसलमान लड़के और कश्मीर की पंडित लड़की ने प्रेम विवाह किया। उन्हें अहमदाबाद छोड़ना पड़ा। पहले वे बैंगलोर गए लेकिन वहां से भी उन्हें भगाया गया। आखिर कार वे केरल जाकर बस गए।

(ये लेखक के निजी विचार हैं।)

 

यह भी पढ़ें: अब घाटी में दिखेगा स्वर्ग का नजारा

यह भी पढ़ें: यह एक युगांतरकारी घटना!

 

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।)