8वीं क्लास से ही पैसे कमाने को मजबूर युवा इस तरह बना IAS, जानिए प्रेरणादायक कहानी

0 310

हर युवा का एक सपना होता है कि वह देश की सेवा करें। इसी उद्देश्य से लाखों युवा हर साल सिविल सर्विसेस की परीक्षा देते हैं लेकिन उसमें से कुछ का ही सपना पूरा हो पाता है।

यह परीक्षा दुनिया की सबसे कठिन परीक्षाओं में से एक है। इसकी तैयारी जितनी ही मुश्किल है उसमें सफलता मिलना भी उतना ही अनिश्चित।

इसके बावजूद हजारों युवा हर चुनौतियों और परिस्थितियों का सामना करते हुए सफलता हासिल कर ही लेते है। कुछ ऐसी ही कहानी है IAS शुभम गुप्ता की। IAS शुभम गुप्ता ने कड़े संघर्षों के साथ अपने सपनों को पूरा किया है।

कौन हैं शुभम गुप्ता ?-

शुभम का जन्म राजस्थान के जयपुर में हुआ। घर के आर्थिक हालात ठीक नहीं थे। इसकी वजह से उन्होंने 8वीं क्लास से ही पैसे कमाने शुरू कर दिए। कड़ी परिस्थितियों के बावजूद भी शुभम ने अपनी पढ़ाई जारी रखी।

अपनी इंटरमीडिएट की परीक्षा श्री स्वामीनारायण गुरुकुल वापी, गुजरात से पूरी की। इसके बाद शुभम ने दिल्ली कॉलेज ऑफ आर्ट्स ऐंड कॉमर्स से इकोनॉमिक्स में बीए ऑनर्स किया जिसके बाद ये सिविल सर्विस की तैयारी में जुट गए।

काफी संघर्षों भरा रहा सफर-

खराब आर्थिक हालात के साथ साथ इन्हें दिल्ली में पढ़ाई के दौरान अंग्रेजी भाषा की भी चुनौती का सामना करना पड़ा। लेकिन अपने सपने को साकार करने के लिए शुभम ने एक-एक कर हर चुनौती पर विजय प्राप्त की।

इन्होंने UPSC के 4 अटेम्प्ट दिए जिनमें दो में इन्हें निराशा हाथ लगी। लेकिन फिर भी इन्होंने हार नहीं मानी। अंत में UPSC की परीक्षा क्लियर कर IAS बन गए। वर्तमान समय में शुभम असिस्टेंट कलेक्टर के रूप में कार्यरत हैं।

यह भी पढ़ें: देश में कोरोना के साथ अब जीका वायरस के मामले आए सामने, 13 सैंपल मिले पॉजिटिव

यह भी पढ़ें: देश में कोरोना के डबल वैरिएंट का अटैक, एक ही शख्स में पाए गए दो अलग-अलग वैरिएंट

-Adv-

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं। अगर आप हेलो एप्प इस्तेमाल करते हैं तो हमसे जुड़ें।)

 

Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More