bjp won the election in jind

जींद उपचुनाव में भाजपा ने मारी बाजी

जिंद उपचुनाव में भाजपा (BJP) ने बड़ी जीत हासिल की है। हरियाणा की जींद विधानसभा सीट पर उपचुनाव में भाजपा ने 12 हजार मतों से जीत हासिल की है। वहीं कांग्रेस से रणदीप सुरजेवाला तीसरे नंबर रहे। भाजपा उम्मीदवार कृष्ण मिड्ढा ने कांग्रेस और जेजेपी के प्रत्याशियों को पीछे छोड़ते हुए जीत दर्ज कर लिया।

कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला इस चुनाव में तीसरे नंबर पर रहे। बीजेपी, कांग्रेस, आईएनएलडी और नवगठित जननायक जनता पार्टी (जेजेपी) के लिए नाक का सवाल बन चुके जींद विधानसभा उपचुनाव में विजयी प्रत्याशी बीजेपी के कृष्ण मिड्ढा ने 12 हजार 235 वोटों के अंतर से जीत हासिल की।

उन्हें कुल 50 हजार 566 वोट मिले। नतीजों में कांग्रेस के रणदीप सुरजेवाला को मुंह की खानी पड़ी और वह 22740 वोटों के साथ तीसरे स्थान पर रहे। वहीं जननायक जनता पार्टी (जेजेपी) के दिग्विजय चौटाला ने कमबैक किया है। उन्होंने 37631 वोटों के साथ दूसरा स्थान हासिल किया। वहीं आईएनएलडी को केवल 3454 मत ही हासिल हुए।

रणदीप सुरजेवाला ने स्वीकार की हार

कांग्रेस के कद्दावर नेता तथा उपचुनाव में पार्टी की तरफ से प्रत्याशी बने रणदीप सुरजेवाला ने अपनी हार स्वीकार करते हुए कहा, ‘मैं उम्मीद करता हूं कि सीएम मनोहरलाल खट्टर और कृष्णा मिड्ढा जी जींद के लोगों का सपना पूरा करेंगे। मुझे पार्टी की तरफ से एक जिम्मेदारी दी गई थी, जिसको मैंने पूरी क्षमता के साथ पूरा किया। मैं कृष्णा मिड्ढा जी को बधाई देता हूं।’

सामने बड़े नेता भी थे, सबको हराया- मिड्ढा

बीजेपी प्रत्याशी कृष्ण मिड्ढा ने जीत के बाद कहा, ‘मैं उन सभी लोगों का शुक्रिया अदा करता हूं, जिन्होंने पार्टी और मुझे सपॉर्ट किया। यह सभी लोगों की जीत है। इस चुनाव में हमारे सामने बड़े नेता भी थे, लेकिन हमने उन्हें भी हरा दिया। हम प्रधानमंत्री के द्वारा लॉन्च की गई योजनाओं को लोगों के बीच ले जाने का काम करेंगे।’

जनता ‘विकास’ के साथ, इस बात पर लगी मुहर- खट्टर

सीएम मनोहर लाल खट्टर ने कहा, ‘यह शानदार जीत बीजेपी की निरंतर बढ़ रही लोकप्रियता को प्रकट करती है। यह जीत आने वाले लोकसभा, विधानसभा चुनावों के लिए एक इशारा है कि जनता अब बरगलाने वालों की नहीं, बल्कि विकास की राजनीति करने वालों के साथ है। यह विजय जनता का हमारी सरकार की व्यवस्था परिवर्तन की नीति, भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई तथा प्रदेशभर में किए जा रहे कल्याणकारी कार्यों पर मुहर है।’

Also Read :  खेसारी लाल यादव की भोजपुरी फिल्म ‘जाल’ की शूटिंग पूरी

खट्टर ने कहा, ‘जींद उपचुनाव में लोगों ने तरह-तरह के ओछे हथकंडे अपनाए तथा जातिवाद की राजनीति की, लेकिन हमारी सरकार हरियाणा एक-हरियाणा एक की सोच के साथ समाज के हर वर्ग को साथ लेकर चली। जनता का जातिवाद से ऊपर उठकर विकास पर मुहर लगाना समाज को बांटने की राजनीति करने वालों को करारा जवाब है।’

दिग्विजय चौटाला ने साधा ईवीएम पर निशाना

वहीं जननायक जनता पार्टी के प्रत्याशी तथा नतीजों में दूसरे नंबर पर रहे दिग्विजय चौटाला ने कहा, ‘मैं बीजेपी को इस जीत के लिए बधाई देना चाहता हूं। हमें ईवीएम में कई खामियां मिलीं, इस मामले को पहले पार्टी मीटिंग में उठाया जाएगा और फिर हम मीडिया में बात को लेकर आएंगे।’

बहुकोणीय उपचुनाव, 75 फीसदी मतदान’

जींद में 28 जनवरी को हुए बहुकोणीय उपचुनाव में करीब 75 फीसदी मतदान हुए थे। यहां से आईएनएलडी से दो बार विधायक रहे हरि चंद मिड्ढा के अगस्त 2018 में निधन के कारण यह उपचुनाव हुआ था। बीजेपी ने दिवंगत हरि चंद मिड्ढा के बेटे कृष्ण मिड्ढा को अपने टिकट पर मैदान में उतारा तो कांग्रेस ने रणदीप सुरजेवाला को प्रत्याशी बनाया। इनके अलावा जेजेपी ने अजय चौटाला के छोटे बेटे दिग्विजय चौटाला को उम्मीदवार बनाया।

राजस्थान का रामगढ़ कांग्रेस की झोली में

इसी तरह राजस्थान के रामगढ़ में कांग्रेस प्रत्याशी शाफिया जुबैर खां ने 12,228 वोटों से जीत दर्ज कर ली है। उनके खाते में 83,311 वोट आए।

राजस्थान विधानसभा चुनाव से कुछ दिन पहले रामगढ़ विधानसभा क्षेत्र के बीएसपी प्रत्याशी लक्ष्मण सिंह के निधन के कारण चुनाव स्थगित कर दिए गए थे। लोकसभा चुनाव से पहले ये आखिरी उपचुनाव थे, इसलिए उपचुनाव के नतीजे बीजेपी और कांग्रेस समेत सभी राजनीतिक दलों के लिए प्रतिष्ठा की लड़ाई बने थे।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।)