सेंसेक्स 350 अंक टूटकर 28,000 से नीचे, निफ्टी 100 अंक लुढ़का

निफ्ट में भी Sensex 100 अंकों से ज्यादा की गिरावट दर्ज की गई

0 121

घरेलू शेयर बाजार में शुक्रवार को फिर बिकवाली के दबाव में आरंभिक कारोबार के दौरान Sensex 350 अंक से ज्यादा टूटकर 28,000 के नीचे आ गया। वहीं, निफ्ट में भी Sensex 100 अंकों से ज्यादा की गिरावट दर्ज की गई। डॉलर के मुकाबले रुपये में भी कमजोरी आई।

बैंक और वित्तीय सेक्टर के शेयरों पर दबाव बना हुआ है

हालांकि सकारात्मक विदेशी संकेतों से कारोबार की शुरूआत तेजी के साथ हुई, मगर डॉलर में आई गिरावट और बीते सत्र में कच्चे तेल के दाम में आई जोरदार तेजी के कारण भारतीय शेयर बाजार में कारोबारी रुझान कमजोर रहा। वहीं, बैंक और वित्तीय सेक्टर के शेयरों पर दबाव बना हुआ था।

Sensex पिछले सत्र से 27,954.88 पर कारोबार कर रहा था

सुबह 9.19 बजे Sensex पिछले सत्र से 310.43 अंकों यानी 1.10 फीसदी की गिरावट के साथ 27,954.88 पर कारोबार कर रहा था। वहीं, निफ्टी 105.35 अंकों यानी 1.28 फीसदी की गिरावट के साथ 8,148.45 पर कारोबार कर रहा था।

हालांकि बंबई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) के 30 शेयरों पर आधारित प्रमुख सूचकांक Sensex पिछले सत्र के मुकाबले 358.22 अंकों की तेजी के साथ 28,623.53 पर खुला और 28,639.12 तक की बढ़त बनाने के बाद लुढ़ककर 27,904.62 पर आ गया।

भारतीय मुद्रा कारोबार की शुरूआत डॉलर की कमजोरी के साथ हुई

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) के 50 शेयरों पर आधारित संवेदी Sensex निफटी पिछले सत्र से 102.75 अंकों की बढ़त के साथ 8,356.55 पर खुला, लेकिन बिकवाली के दबाव में जल्द ही फिसलकर 8,148 पर आ गया।

भारतीय मुद्रा रुपये में कारोबार की शुरूआत शुक्रवार को डॉलर के कमजोरी के साथ हुई। डॉलर के मुकाबले रुपया पिछले सत्र की क्लोजिंग से 39 पैसे फिसलकर 76.05 रुपये प्रति डॉलर पर खुला।

-Adv-

यह भी पढ़ें : झारखंड : कोरोना को लेकर शहर से ज्यादा गांव में जागरूकता

यह भी पढ़ें : एयर इंडिया ने 4 देशों से चार्टर उड़ान समझौते किए

यह भी पढ़ें : कोरोना संदिग्ध तबलीगियों की तलाश में छापे, साद को पुलिस का नोटिस, कई हिरासत में लिए

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।)

 

Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More