Sambita Patra

भगवा आतंकवाद कहने वाले देश से माफी मांगे : संबित पात्रा

2007 के मक्का मस्जिद ब्लास्ट केस में सभी आरोपियों के बरी हो जाने के बाद भारतीय जनता पार्टी ने कांग्रेस पर निशाना साधा है। बीजेपी नेता संबिता पात्रा ने कहा है कि पी चिदंबरम और सुशील शिंदे जैसे नेताओं ने ‘भगवा आतंकवाद’ शब्द का इस्तेमाल कर हिंदुओं का अपमान किया था। पात्रा ने कहा है कि इसके लिए सोनिया और राहुल गांधी को माफी मांगनी चाहिए। बीजेपी ने कोर्ट के इस फैसले को कर्नाटक चुनावों के लिए अपना हथियार बनाते हुए कहा कि वहां जनता वहां कांग्रेस को हराकर इस अपमान का बदला चुकाएगी।

सभी आरोपियों को एनआईए कोर्ट ने दी क्लीनचिट

आपको बता दें कि सोमवार को मक्का मस्जिद में हुए शक्तिशाली पाइप बम धमाके मामले में स्वामी असीमानंद सहित सभी आरोपियों को बरी कर दिया गया है। 11 साल बाद आए इस फैसले के बाद बीजेपी कांग्रेस के खिलाफ हमलावर हुई है। संबिता पात्रा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि कोर्ट के फैसले पर कांग्रेस के नेताओं के बयान शर्मनाक हैं।

2जी फैसले पर क्यों नहीं बोली कांग्रेस?

संबित पात्रा ने कहा कि कांग्रेस के नेता अब कह रहे हैं कि एनआईए ने पैरवी ठीक से नहीं की। उन्होंने कहा कि हाल में 2जी पर जब फैसला आया तब तो कांग्रेस ऐसा नहीं कह रही थी। पात्रा ने कांग्रेस पर डबल स्टैंडर्ड रखने का आरोप लगाया।

Also Read : मक्का मस्जिद ब्लास्ट केस : ओवैसी बोले-NIA बहरा और अंधा तोता

‘भगवा आतंकवाद कहने वाले देश से माफी मांगे’

बीजेपी नेता पात्रा ने कहा कि आज देश को 2013 का कांग्रेस का जयपुर अधिवेशन याद आ रहा है। पात्रा ने कहा, ‘उस अधिवेशन में मंच पर कांग्रेस की तत्कालीन अध्यक्ष सोनिया गांधी, तत्कालीन उपाध्यक्ष राहुल गांधी, तत्कालीन पीएम मनमोहन सिंह और गृहमंत्री सुशील कुमार शिंदे मौजूद थे। शिंदे ने इस मंच से हिंदू आतंकवाद/सैफरन टेरर का इस्तेमाल किया।’

‘पी चिदंबरम ने किया था भगवा आतंकवाद शब्द का इस्तेमाल’

पात्रा ने कहा कि 2010 में सबसे पहले पी चिदंबरम ने भगवा आतंकवाद शब्द का इस्तेमाल किया। पात्रा ने आरोप लगाया कि तुष्टिकरण की राजनीति और चंद वोटों के लिए कांग्रेस ने हिंदुओं को बदनाम किया। पात्रा ने कहा कि चिदंबरम या शिंदे ने ये सब सोनिया और राहुल से सीखा है, इसलिए इन्हें ही देश से माफी मांगनी चाहिए।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।)