तेजस्वी ने मायावती से लिया आशीर्वाद, लंच पर अखिलेश से मुलाकात

बिहार के विधायक दल के नेता प्रतिपक्ष और लालू प्रसाद यादव के बेटे तेजस्वी यादव ने रविवार को लखनऊ पहुंचकर बसपा प्रमुख मायावती से उनके निवास पर मुलाकात की।वहीं तेजस्वी यादव सोमवार को अखिलेश यादव से भी मुलाकात करेंगे।  उनकी इस मुलाकात को लेकर कई कयास लगाए जा रहे हैं।

तेजस्वी-मायावती की मुलाकात के बाद कयास तेज

लोकसभा चुनाव के लिए उत्तर प्रदेश में बहुजन समाज पार्टी और समाजवादी पार्टी के गठबंधन के बाद आरजेडी नेता तेजस्वी यादव मायावती और अखिलेश से मुलाकात करने के लिए लखनऊ पहुंचे हैं। तेजस्वी ने रविवार को बसपा प्रमुख मायावती से मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने मायावती के पैर छूकर ‘आशीर्वाद’ लिया। इसके अलावा तेजस्वी नेसपा-बसपा गठबंधन पर अपनी खुशी जताई और कहा कि यूपी में बीजेपी अब एक भी सीट नहीं जीत पाएगी। इसके बाद तेजस्वी आज सपा प्रमुख अखिलेश यादव से लंच पर मुलाकात करेंगे।

तेजस्वी यादव ने लिया मायावती से आशीर्वाद:

रविवार को एयरपोर्ट से निकलकर तेजस्वी यादव बीएसपी सुप्रीमो मायावती से मुलाकात करने उनके नौ माल एवेन्यू स्थित आवास पहुंचे। करीब एक घंटे तक उनकी मायावती के साथ मुलाकात चली। करीब 11.20 बजे वह मायावती और सतीश मिश्रा के साथ बाहर निकले। वहां मायावती और तेजस्वी यादव ने मीडिया से बात की। तेजस्वी यादव ने कहा कि वह सबसे छोटे हैं। यूपी में सपा और बसपा के गठबंधन से बहुत खुशी मिली है। इसलिए वह इस खुशी को बांटने और बड़ों का आशीर्वाद लेने यहां आए हैं। साथ ही बहन जी को उनके जन्मदिन की अडवांस में बधाई देने आए हैं। उन्होंने कहा कि, लालू जी ने यूपी और महागठबंधन को लेकर जो कल्पना की थी वह सच हो रही है।

आज अखिलेश यादव से मुलाकात :

वहीं तेजस्वी यादव सोमवार की सुबह सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव से मुलाकात करेंगे। उन्होंने कहा कि सपा-बसपा गठबंधन न हो इसलिए अ‌वैध खनन से जुड़े मामले में उन्हें जबरन फंसाया जा रहा है। जैसे बिहार में हमारे परिवार के साथ हुआ है। तेजस्वी ने कहा कि संवैधानिक स्थानों पर तानाशाही की जा रही है। लालू जी इसलिए जेल में हैं क्योंकि उन्होंने मोदी के आगे घुटने नहीं टेके। मूंछ भी नहीं आई थी तब से भ्रष्टाचारी बताकर हम लोगों को फंसा दिया। देश में पहली बार किसी आरबीआई गर्वनर ने इस्तीफा दिया।