अयोध्या राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद मामला : जल्द सुनवाई पूरी होने की उम्मीद

राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद की उच्चतम न्यायालय में​ नियमित सुनवाई हो रही है। बुधवार को सुनवाई के दौरान दोनों पक्षों ने जिरह पूरी करने के लिए 18 अक्टूबर की समयसीमा बताई।

मुख्य न्यायाधीश (सीजेआई) रंजन गोगोई ने कहा कि बहस पूरी होने के बाद हमें फैसला लिखने के लिए चार हफ्तों का समय लगेगा।

मामाले में सुनवाई समाप्त करने के लिए अस्थायी तारीखों के अनुमान के अनुसार, ‘हम कह सकते हैं कि 18 अक्टूबर तक सारी बहस पूरी होने की संभावना है।’

रोजाना के आधार पर जारी रहेगी कार्यवाही-

शीर्ष अदालत ने कहा कि यदि पक्ष मध्यस्थता के जरिए अयोध्या मामला सुलझाने के इच्छुक हैं, तो वे ऐसा कर सकते हैं।

आगे न्यायालय ने कहा कि अयोध्या मामले की सुनवाई बहुत आगे पहुंच गई है इसलिए रोजाना के आधार पर कार्यवाही जारी रहेगी।

साथ ही जोड़ा कि उच्चतम न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश एफ एम आई कलीफुल्ला की अगुवाई में तीन सदस्यीय मध्यस्थता पैनल के समक्ष हो रही सुनवाई गोपनीय रहेगी।

यह भी पढ़ें: राजा राजेन्द्र सिंह ने खुद को बताया राम का वंशज, जन्मभूमि पर ठोका दावा

यह भी पढ़ें: मुस्लिम पक्ष के वकील को धमकी के मामले में SC ने दो लोगों को जारी किया नोटिस

 

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।)