राजीव गांधी पुण्यतिथि : मां की हत्या वाले दिन ही ली प्रधानमंत्री पद की शपथ

21 मई 1991 यह वह तारीख है जब देश के सबसे युवा प्रधानमंत्री राजीव गांधी की आत्मघाती बम विस्फोट में हत्या कर दी गई थी।

राजीव गांधी की 28 वीं पुण्यतिथि कांग्रेस प्रमुख राहुल गांधी, यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी और पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी ने उनके दिल्ली स्थित ‘वीर भूमि’ स्मारक में श्रद्धांजलि अर्पित की।

अपनी श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट किया, ‘पूर्व पीएम श्री राजीव गांधी को उनकी पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि।’

ऐसा था राजीव गांधी का जीवन-

दिवंगत राजीव गांधी की 28वीं पुण्यतिथि पर हम उनके बारे में कुछ ऐसी बातें बताने जा रहे हैं जिन्हें शायद ही आप जानतें हों।

20 अगस्त 1944 को राजीव रत्न गांधी का जन्म मुंबई में फिरोज गांधी और इंदिरा गांधी के यहां हुआ था।

वह भारत के सातवें प्रधानमंत्री थे जिन्होंने देश को 1984 से 1989 तक सेवा दी।

दिलचस्प बात यह है कि उनका नाम उनकी दादी कमला नेहरू के नाम पर रखा गया था। कमला का अर्थ है देवी लक्ष्मी और राजीव का अर्थ है कमल।

राजीव गांधी ने एंटोनिया माइनो से मुलाकात की। जब वह ब्रिटेन में अपने कॉलेज के दिनों के दौरान वेट्रेस थीं। दोनों ने बाद में शादी की और भारत आकर वह सोनिया गांधी बनीं।

1980 में अपने भाई संजय गांधी की मृत्यु तक राजीव गांधी अराजनैतिक रहे।

40 वर्ष की आयु में राजीव गांधी भारत के सबसे कम उम्र के प्रधानमंत्री बने। 31 अक्टूबर, 1984 को उन्होंने शपथ ग्रहण की थी। यह वहीं दिन था जब उनकी मां इंदिरा गांधी की उनके ही अंगरक्षकों द्वारा हत्या कर दी गई थी। 

राजीव गांधी की हत्या 21 मई 1991 को एक सार्वजनिक सभा में तमिलनाडु के श्रीपेरंबुदूर में एक लोकसभा कांग्रेस उम्मीदवार के लिए प्रचार करते समय हुई थी।

1991 में भारत सरकार ने उन्हें अपने सर्वोच्च नागरिक सम्मान भारत रत्न (मरणोपरांत) सम्मानित किया था।

यह भी पढ़ें: राहुल गांधी की सुरक्षा में चूक, चेहरे पर दिखी लेजर लाइट

यह भी पढ़ें: कांग्रेस को फर्श से अर्श पर पहुंचाएंगी प्रियंका गांधी?

 

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।)