गर्भवती ने बेटी और मां संग की खुदकुशी, रुला देगी मौत से पहले क्लिक की आखिरी तस्वीर…

0 2,020

एक गर्भवती महिला ने अपनी बेटी और मां के साथ खुदकुशी कर ली। तीनों की मौत सल्फास खाने से हुई है। महिला गर्भवती थी। पेट में पल रहे बच्चे की दुनिया में आने से पहले ही मौत नसीब हुई। मामला पंजाब के तरनतारन जिले के गुरु तेग बहादुर नगर का है।

मृतकों की पहचान गीतइंद्र कौर, उसकी मासूम लड़की नूर व उसकी मां प्रीतम कौर के रूप में हुई है। इस मामले में थाना सिटी पुलिस ने महिला के पति राजबीर सिंह उर्फ राजा पन्नू के खिलाफ आत्महत्या करने के लिए उकसाने का मामला दर्ज कर लिया है।

मौसी को कॉल कर दी जानकारी-

सबसे पहले गीतइंद्र कौर ने अपनी 9 साल की लड़की नूरदीप कौर को सल्फास की गोली खिलाई। इसके बाद मां प्रीतम कौर और आखिर में गीतइंद्र कौर ने गोली निगली। इसके बाद गीतइंद्र ने बेटी और मां के साथ मोबाइल पर आखिरी फोटो क्लिक कर की।

फिर उसने मौसी गुरमीत कौर को वीडियो कॉल कर जानकारी दी और माफी मांगी। हालांकि डीएसपी सुच्चा सिंह बल्ल ने कहा कि गीतइंद्र कौर व राजबीर सिंह राजा पन्नू के मोबाइल कॉल के आधार पर अभी और सुराग लग सकते हैं।

रुला देगी तीनों की आखिरी तस्वीर-

मौत से पहले महिला ने अपनी, बेटी और मां के साथ आखिरी तस्वीर खींची। इस तस्वीर में गर्भवती महिला और उसकी मां रो रहीं हैं। उन्हें कुछ समय में ही सबकुछ खत्म होने का आभास है। लेकिन मासूम बेटी इससे बेखबर है। वह मां के गोद में बेफिक्र मुस्कुरा रही है।

शुरूआती पूछताछ में राजा ने माना कि वह अपनी पत्नी के चरित्र पर संदेह करता था। जिसके कारण घर में क्लेश रहता था। गुरुवार को तीन सदस्यीय डॉक्टरों के पैनल ने तीनों शवों का पोस्टमार्टम किया।

पोस्टमार्टम के दौरान पता चला कि गीतइंद्र कौर गर्भवती थी। पेट में पल रहे बच्चे की दुनिया में आने से एक दिन पहले ही मौत नसीब हुई। डॉक्टरों ने महिला गीतइंद्र की गुरुवार (03 दिसंबर) को डिलीवरी की तारीख दी थी।

पति करता था चरित्र पर शक, कई बार मांगा  दहेज़-

पंजाब रोडवेज में बतौर इंस्पेक्टर कार्यरत अजीत सिंह की मौत के बाद उनकी लड़की गीतइंद्र कौर को रोडवेज में बतौर क्लर्क की नौकरी मिली थी। गीतइंद्र कौर की यह दूसरी शादी थी। एक साल पहल ही वो राजबीर सिंह उर्फ राजा पन्नू से मिली थी।

बाद में दोनों ने विवाह कर लिया। गीतइंद्र कौर के रिश्तेदार परमजीत सिंह ने बताया कि विवाह के बाद राजा अपनी पत्नी को लगातार तंग करता था। कई बार दहेज की मांग की। इस पर मां प्रीतम कौर ने 25 लाख में अपना मकान बेचकर दहेज दिया था।

यह भी पढ़ें: प्रतापगढ़ : दहेज की बलि चढ़ी विवाहिता, ससुराल वाले फरार

यह भी पढ़ें: जब दहेज में दे दी गई मुंबई ! ऐसा है मायानगरी का दिलचस्प इतिहास

-Adv-

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं। अगर आप डेलीहंट या शेयरचैट इस्तेमाल करते हैं तो हमसे जुड़ें।)

 

Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More