मोदीनॉमिक्स’ की स्थिति खराब, सबसे निचले स्तर पर उपभोक्ता खर्च

सरकार को अपने ही आंकड़े छिपाने पड़ रहे: राहुल गांधी

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने शुक्रवार को सरकार पर निशाना साधा।

उपभोक्ता खर्च में गिरावट वाली सरकार की रिपोर्ट को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा।

उन्होंने कहा- ‘मोदीनॉमिक्स’ (मोदी सरकार की अर्थव्यवस्था)  खराब हो गई है।

सरकार को अपनी ही रिपोर्ट छिपानी पड़ रही है।

ट्वीट में एक खबर भी पोस्ट की

राहुल गांधी ने ट्वीट में एक खबर भी पोस्ट की है।

जिसमें राष्ट्रीय सांख्यिकी संगठन (एनएसओ) के आंकड़े का हवाला देते हुए लिखा है कि देश में चार दशक बाद उपभोक्ता खर्च में गिरावट आई है।

गरीबी लगातार बढ़ रही है।

ग्रामीण इलाकों में मांग में कमी आई है।

मोदी शासन में देश की अर्थव्यवस्था चरमरा गई है।

राहुल ने यह भी लिखा- एनएसओ की रिपोर्ट को 19 जून को जारी करने की मंजूरी दी गई थी।

लेकिन, सरकारी एजेंसी ने इसके ‘प्रतिकूल’ निष्कर्षों के कारण रोक दिया था।

जीडीपी से भी बड़ा झटका

लगता है ग्रामीण मांग में आई गिरावट सबाब पर पहुंच गई है।

क्योंकि देश में उपभोक्ता खर्च (कन्ज्यूमर स्पेंडिंग) 4 दशक से ज्यादा की अवधि के निम्नतम स्तर पर आ गया।

बिजनस स्टैंडर्ड ने एक सरकारी सर्वे के हवाले से कहा है कि 2017-18 में उपभोक्ता खर्च में आश्चर्यजनक गिरावट आई है।

यह सर्वे अभी प्रकाशित नहीं हुआ है।

राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय (एनएसओ) की ओर से इसे जारी किया जाने वाला है।

‘प्रमुख सूचकांक: भारत में घरेलू उपभोक्ता खर्च’ (की इंडिकेटर्स: हाउसहोल्ड कन्ज्यूमर एक्सपेंडिचर इन इंडिया) नाम से हुआ सर्वे!

सर्वे के मुताबिक, 2017-18 में देशवासियों का व्यक्तिगत औसत मासिक खर्च घटकर 1,446 रुपये पर पहुंच गया।

यह 2011-12 में 1,501 रुपये था।

यह 3.7% की गिरावट है।

यह भी पढ़ें: जब BJP के साथ ’50:50 फॉर्मूला’ तो हमारे साथ क्यों नहीं : NCP

यह भी पढ़ें: महाराष्ट्र में सियासी ड्रामा चरम पर, अब राज्यपाल ने NCP को बुलाया

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।