yashbharti penshan

फिल्मी-खेल जगत के सितारों को नहीं मिलेगी यश भारती-पद्म सम्मान पेंशन

यश भारती और पद्म सम्मान पाने वालों को दी जाने वाली पेंशन अब फिल्मी और खेल जगत के सितारों को नहीं मिलेगी।

पेंशन व्यवस्था में किए गए बदलाव के कारण कई फिल्मी और खेल जगत के सितारों को इस पेंशन से वंचित रहना पड़ेगा। इन सितारों में क्रिकेटर सुरेश रैना, आरपी सिंह, फिल्म निर्माता नसिरुद्दीन शाह, अभिनेता नवाजुद्दीन सिद्दकी और अनुराग कश्यप का नाम शुमार है।

क्या हैं नये नियम

यश भारती और पद्म सम्मान पेंशन में किए गए बदलावों में ये है कि पेंशन का लाभ उसे ही मिलेगा जो उत्तर प्रदेश का रहने वाला हो और वो य़ूपी में ही रहकर काम करता हो। इसके अलावा इनकम टैक्स के दायरे में आने वाले लोगों को भी इस पेंशन का लाभ नहीं मिलेगा।

क्योंकि सुरेश रैना, अनुराग कश्यप, नवाजुद्दीन सिद्दीकी, नसीरुद्दीन शाह इनकम टैक्स के दायरे में आते हैं। इसके अलावा जिन लोगों को पहले से ही पेंशन मिलती हो, सरकारी सेवा में है, आवेदक यूपी की पैदाइश हो और यूपी में ही काम करने वाला हो, ऐसे लोगों को पेंशन का लाभ नहीं दिया जाएगा।

Also Read :  …ताकि भगवान राम के पैर पखारे सरयू

आपको बता दें कि कुछ दिन पहले ही महाकवि गोपाल दास नीरज के निधन के बाद योगी सरकार ने इस पेंशन को बहाल कर दिया था। निधन के एक माह पहले ही महाकवि गोपाल दास ने सीएम से पेंशन व्यवस्था को बहाल करने की मांग की थी। इसको देखते हुए सरकार ने सशर्त इस पेंशन व्यवस्था को बहाल कर दिया था। अब यश भारती और पद्म सम्मान पाने वाले लोगों को सरकार 25 हजार रुपए देगी, जबकि पहले 50 हजार रुपए दिए जाते थे।

अखिलेश सरकार में बनाई गई थी नियमावली

अखिलेश सरकार में यश भारती सम्मान और पद्म पुरस्कारों से अलंकृत लोगों को पचास हजार रुपए मासिक पेंशन देने के लिए नियमवाली बनाई गई थी। ये नियमावली 2015 में बनाई गई थी। योगी सरकार आने के बाद इस पेंशन पर जांच बैठा दी गई। इसके बाद इस पेंशन को रोक दिया गया।

महाकवि गोपाल दास नीरज ने की थी बहाली की मांग

महाकवि गोपाल दास नीरज ने योगी सरकार से इस पेंशन व्यवस्था को फिर से शुरू किए जाने की मांग की थी। महाकवि गोपाल दास ने पिछले माह सीएम योगी से यश भारती पेंशन को शुरू करने को कहा था। इसके बाद योगी सरकार ने इस पर अमल करते हुए अपनी शर्तों के साथ इसे फिर से शुरू करने का निर्णय लिया था।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।)