मथुरा में कृष्ण जन्मोत्सव की तैयारी जोरों पर, पहली बार भक्त करेंगे ऑनलाइन दर्शन

0 301

हर ओर कृष्ण जन्माष्टमी की धूम है। नंदगांव, वृंदावन, उज्जैन, काशी और जगन्नाथपुरी में जन्माष्टमी का त्योहार मनाया जा चुका है लेकिन मथुरा के श्रीकृष्ण जन्मभूमि मंदिर में श्रीकृष्ण बाल रूप में आज आधी रात को प्रकट होंगे।

यह पहला मौका है, जब भगवान श्रीकृष्ण का जन्मोत्सव बिना भक्तों के मनाया जा जा रहा है। ब्रज के मंदिरों में सिर्फ संतों और सेवायतों की मौजूदगी में सभी परंपराएं पूरी की जाएंगी। मंदिरों में भक्तों के प्रवेश पर प्रतिबंध है। कोरोना संक्रमण से बचाव को लेकर यह फैसला लिया गया है।

जन्मोत्सव के मुख्य कार्यक्रम में भी पूजा कराने वाले आचार्य के साथ आयोजन से जुड़े लोग भी सीमित संख्या में ही सम्मिलित होंगे। श्रीकृष्ण जन्मस्थान पर होने वाले जन्मोत्सव के लाइव दर्शन श्रद्धालु टेलीविजन और सोशल मीडिया से माध्यम से कर सकेंगे। जन्मोत्सव के अलौकिक क्षणों का सजीव प्रसारण किया जाएगा।

बांकेबिहारी की नगरी में हर मंदिर में अपने तरीके से आराध्य श्रीकृष्ण का जन्मोत्सव मनाया जाएगा। चूंकि भगवान के जन्म का समय रात 12 बजे माना गया है, इसलिए अधिकतर मंदिरों में रात 12 बजे ही ठाकुरजी का जन्मोत्सव मनाया जाएगा।

यह भी पढ़ें: जन्माष्टमी विशेष : देखें अमेरिका के माखनचोर कृष्ण की मनमोहक अठखेलियां; Photos

यह भी पढ़ें: Krishna Janmashtami 2020 : श्रीकृष्ण का 5246वां जन्मोत्सव

-Adv-

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं। अगर आप हेलो एप्पडेलीहंट या शेयरचैट इस्तेमाल करते हैं तो हमसे जुड़ें।)
Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More