काशी में गंगा सफाई के ‘महाअभियान’ का शंखनाद, सरकार के साथ लोगों ने संभाला मोर्चा

0 369

पतित पावनी गंगा की सफाई के लिए केंद्र सरकार हर संभव कोशिश कर रही है। सरकार की ये कोशिश अब धरातल पर नजर भी आने लगी है। केंद्र सरकार को अब लोगों का भी साथ मिलने लगा है। धर्म नगरी काशी से गंगा सफाई के महाअभियान का शंखनाद हुआ है।

सरकारी महकमे के साथ आम जनमानस को जोड़ना इस अभियान का प्रमुख मकसद है। बनारस में गंगा किनारे के 84 घाटों पर 1600 वॉलेंटियर्स मैदान में एक साथ उतरें। लगभग 9 किलोमीटर गंगा किनारे सफाई कार्यक्रम चला।

घाट से लेकर गंगा में चला सफाई अभियान-

varanasi ganga cleaning

महाअभियान के इस शंखनाद में कमिश्नर दीपक अग्रवाल और डीएम कौशल राज शर्मा भी मौजूद थे। महाअभियान की शुरुआत उसी अस्सी घाट से हुई, जहां सात साल पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने फावड़ा चलाकर मिशन सफाई शुरु किया था।

अस्सी घाट पर महास्वच्छता अभियान के तहत गंगा नदी के 8-9 किलोमीटर के क्षेत्र में प्रत्येक पांच-पांच मीटर पर 1-1 वालंटियर लगाते हुए लगभग 1600 से 1800 वॉलिंटियर गंगा व गंगा घाटों की सीढ़ियों के सफाई में लगे रहे।

वॉलंटियर्स ने 10 मीटर गहरे गंगा नदी के चौड़ाई के क्षेत्रफल में से गंगा नदी के पानी से लाकर पूरा घाट की सीढ़ियों तक सफाई किया। घाट पर फैले कूड़े को एकत्रित करके एक सुव्यवस्थित स्थान पर रखा।

varanasi ganga cleaning

प्रत्येक रविवार को चलाया जाएगा महाअभियान-

महाअभियान का नेतृत्व करते हुए डीएम कौशलराज शर्मा ने बताया कि गंगा के दोनों सिरों पर सफाई का वृहद अभियान रविवार को प्रारंभ किया गया है। इसमे 1600 वालंटियर लगे हैं। हर दस वॉलंटियर के ऊपर एक एक सुपर वाइजरी वॉलंटियर भी है।

गंगा घाट पर फैले वेस्ट को एकत्र किया गया। अभी तक गंगा घाट पर अलग अलग समितियां सफाई करती थीं, पर अब उन सब को एकसाथ लाकर एक वृहद अभियान चलाकर गंगा को साफ करने का निर्णय लिया गया है।

varanasi ganga cleaning

डीएम ने बताया कि नगर निगम की तरफ से जरुरत की सामग्रियां भी दी गई है, ताकि कचरे को अच्छे से कलेक्ट किया जा सके। और भी ऐसे अभियान एक एक रविवार को चलाया जाएगा।

यह भी पढ़ें: गंगा किनारे लहलहाती स्ट्रॉबेरी की फसल, बेरोजगारों के लिए बनी नजीर

यह भी पढ़ें: गंगा में भी लग रहा है जाम, ट्रैफिक सुधारने का हो रहा इंतजाम

-Adv-

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं। अगर आप डेलीहंट या शेयरचैट इस्तेमाल करते हैं तो हमसे जुड़ें।)

Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More