कन्हैया कुमार ने लगाए थे देशविरोधी नारे, 10 के खिलाफ चार्टशीट

जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी (JNU) में 9 फरवरी, 2016 को आतंकी अफजल गुरु की बरसी पर देशविरोधी नारेबाजी को लेकर सोमवार को दिल्ली पुलिस ने पटियाला हाउस कोर्ट में कन्‍हैया कुमार समेत 10 लोगों के खिलाफ 1200 पेज की चार्जशीट दाखिल की है। 

दिल्ली पुलिस ने पटियाला हाउस कोर्ट दाखिल की चार्जशीट:

ये चार्जशीट सेक्शन-124 A,323,465,471,143,149,147,120B के तहत  पेश की गई है। चार्जशीट में कुल 10 मुख्य आरोपी बनाए हैं जिसमें कन्हैया कुमार,उमर खालिद और अनिर्बान भट्टाचार्य हैं। इन तीनों के अलावा चार्जशीट में सात कश्मीर छात्र और 36 अन्य लोग भी हैं।

चार्जशीट के मुताबिक कन्हैया कुमार ने भी देश विरोधी नारे लगाए थे। वहीं पुलिस को कन्हैया का भाषण देते हुए एक वीडियो भी मिला है। इसके साथ ही कहा गया है कि कन्हैया को पूरे कार्यक्रम की पहले से जानकारी थी। चार्जशीट में जिन सात कश्मीरी छात्रों के नाम हैं, उनसे पूछताछ हो चुकी है।

कन्हैया का भाषण देते हुए एक वीडियो भी मिला:

पुलिस सूत्रों के मुताबिक इस मामले में सबूत के तौर पर घटना के वक़्त के कई वीडियो फुटेज, जो सीबीआई की सीएफएसएल में जांच के लिए भेजे गए थे और जिसके नमूने  पॉजिटिव पाए गए थे। इसके अलावा मौके पर मौजूद कई लोगों के बयान, मोबाइल फुटेज, फेसबुक पोस्ट, बैनर पोस्टर शामिल हैं।

वहीं जेएनयू प्रशासन, एबीवीपी के छात्र, सिक्योरिटी गार्ड औऱ कुछ अन्य छात्र को भी इसमें गवाह बनाया गया है। इस मामले करीब 30 और लोग संदिग्ध पाए गए थे। लेकिन उनके खिलाफ सबूत नहीं मिले थे। बताया जा रहा है कि स्पेशल सेल ने इस संबंध में दिल्ली पुलिस कमिश्नर और अभियोग से जरूरी निर्देश ले लिए हैं।

कन्हैया पर आरोप: 

जानकारी के मुताबिक़, जेएनयू के पूर्व छात्र संघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार पर आरोप है कि उसने 9 फरवरी की शाम प्रदर्शनकारियों का नेतृत्व किया था। आरोप यह भी है कि जेएनयू परिसर में अफजल गुरु की बरसी पर आयोजित होने वाले कार्यक्रम के लिए अनुमति की प्रक्रिया अधूरी थी।