ICC suspends Pakistan captain Sarfraz Ahmed for 4 matches

अफ्रीकी खिलाड़ी पर नस्लीय टिप्पणी करने पर सरफराज को मिली सजा

पाकिस्तान क्रिकेट टीम के कप्तान सरफराज अहमद (Sarfraz Ahmed) ने मैच के दौरान दक्षिण अफ्रीका के खिलाड़ी एंडिले फेलुक्वायो पर नस्लीय टिप्पणी की थी। उनकी इस टिप्पणी की पूरी दुनिया में काफी आलोचना हुई थी। सरफराज ने आलोचनाओं के बाद एंडिले फेलुक्वायो से माफी मांग ली थी, लेकिन अब अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट काउंसिल (ICC) ने सरफराज अहमद को सजा सुना दी है।

ICC ने पाकिस्तानी खिलाडी को दी सजा:

दक्षिण अफ्रीका के खिलाड़ी एंडिले फेलुक्वायो पर नस्लीय टिप्पणी करने के आरोप में आईसीसी ने सरफराज अहमद पर चार मैचों का सस्पेंशन लगाया है। बता दें कि आईसीसी की अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट नस्ल-विरोधी नीति, 1 अक्टूबर 2012 के अनुसार आईसीसी और उसके सभी सदस्यों को किसी भी समय अपमान, डराना-धमकाना, नापसंद करना, उनकी जाति,धर्म, संस्कृति,रंग या राष्ट्रीय या जातीय मूल के आधार पर व्यक्तियों के बीच भेदभाव नहीं करना चाहिए।

दक्षिण अफ्रीका के खिलाड़ी एंडिले फेलुक्वायो पर की थी नस्लीय टिप्पणी:

दरअसल, यह मामला दूसरे वनडे की दूसरी पारी में 37वें ओवर का है। फेलुक्वायो एक रन लेते हुए दूसरे छोर पर जा रहे थे तभी सरफराज का विवादास्पद बयान स्टम्प माइक में रिकॉर्ड हो गया जिसमें उन्होंने कहा, “अबे काले, तेरी अम्मा आज कहां बैठीं हैं? क्या पढ़वा कर आया है आज?”

ये भी पढ़ें:  24 घंटों में सुलझा देंगे राम मंदिर विवाद: सीएम योगी              

PCB ने की थी सरफराज अहमद की आलोचना:

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (PCB) ने भी सरफराज अहमद की इस हरकत पर आलोचना की थी। पीसीबी ने एक बयान जारी कर कहा था, “पीसीबी, कप्तान सरफराज अहमद द्वारा दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ डरबन में खेले गए दूसरे वनडे मैच में की गई रंगभेदी टिप्पणी पर खेद जाहिर करता है। पीसीबी इस तरह के बयानों का समर्थन नहीं करता जिसे किसी की भावनाएं आहत हों और इस तरह की रंगभेदी टिप्पणी के संबंध में जीरो टोलरेंस नीति को अपनाता है।”

सरफराज अहमद ने एंडिले फेहुलक्वायो से मिलकर मांगी माफी:

बयान के मुताबिक, “यह मामला खिलाड़ी की शिक्षा और ट्रेनिंग के सभी स्तरों की महत्ता को बताता है। पीसीबी की कोशिश अपने खिलाड़ियों की शिक्षा के कार्यक्रम को सुधारना है ताकि इस तरह के विवाद दोबारा न हों।”

सरफराज अहमद भी इस मुद्दे पर सोशल मीडिया और एंडिले फेलुक्वायो से व्यक्तिगत तौर पर माफी मांग चुके हैं। उन्होंने अपने माफीनामे में कहा कि उनका मकसद किसी की भावनाओं को आहत करना नहीं था।

ये भी पढ़ें:  बबुआ ने बाप-चाचा को दिया धोखा: शिवपाल यादव

उन्होंने अपने ट्वीट में कहा था, “दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेले गए दूसरे वनडे मैच में की गई टिप्पणी के लिए मैं माफी मांगता हूं। यह मेरी निराशा के भाव थे, जो स्टंप माइक में सुनाई दे गए। ऐसे में मैं उन सभी से माफी मांगता हूं जिन्हें मेरी इस बात से ठेस पहुंची है।”

पाकिस्तानी कप्तान ने कहा था, “मैंने किसी खास व्यक्ति के खिलाफ यह बात नहीं की थी। मैं किसी को निराश नहीं करना चाहता था। मैं तो यह भी नहीं चाहता था कि कोई इसे सुने और यह बात प्रतिद्वंद्वी टीम के खिलाड़ियों या क्रिकेट प्रशंसकों तक पहुंचे। मैं पहले भी और अब भी विश्व भर में अपने साथी क्रिकेट खिलाड़ियों के साथ दोस्ती की भावना रखता हूं और मैदान पर तथा मैदान के बाहर हमेशा उनका सम्मान करता रहूंगा।”

साभार: हिंदुस्तान

साभार यूट्यूब                      

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।)