खुशखबरी : बन गई कोरोना की वैक्सीन!

कोरोना वायरस महामारी से अब तक 47 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 10 लाख लोग बीमार हैं

0 1,363

Corona vaccine कोरोना वायरस महामारी से अब तक 47 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 10 लाख लोग बीमार हैं। कोरोना वायरस की वैक्सीन बनाने में भी अलग-अलग देशों के वैज्ञानिक लगे हुए हैं। कई देश यह दावा कर रहे हैं कि उनके यहां वैक्सीन बन रही है। इस बीच अमेरिकी वैज्ञानिकों ने एक बड़ा दावा किया है।

अमेरिकी वैज्ञानिकों का दावा है कि उनकी वैक्सीन ने उस स्तर की ताकत हासिल कर ली है जिससे कोरोना के संक्रमण को मजबूती से रोका जा सके। यूनिवर्सिटी ऑफ पिट्सबर्ग स्कूल ऑफ मेडिसिन के वैज्ञानिकों के मुताबिक अगले कुछ महीनों में इस वैक्सीन का इंसानों पर ट्रायल शुरू करेगी।

इस यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिकों ने जो वैक्सीन बनाई है उसके लिए इन लोगों ने सार्स (SARS) और मर्स (MERS) के कोरोना वायरस को आधार बनाया था। पिट्सबर्ग स्कूल ऑफ मेडिसिन की एसोसिएट प्रोफेसर आंद्रिया गमबोट्टो ने बताया कि ये दोनों सार्स और मर्स के वायरस नए वाले कोरोना वायरस यानी कोविड-19 से बहुत हद तक मिलते हैं।

Corona vaccine : वैक्सीन को चूहे पर आजमाया-

आगे बताया कि इससे हमें ये सीखने को मिला है कि इन तीनों के स्पाइक प्रोटीन (वायरस की बाहरी परत) को भेदना बेहद जरूरी है ताकि इंसानों के इस वायरस से मुक्ति मिल सके। हमें यह पता कर लिया है कि वायरस को कैसे मारना है। हमने अपनी वैक्सीन को चूहे पर आजमा कर देखा इसके परिणाम बेहद पॉजिटिव थे।

प्रोफेसर आंद्रिया गमबोट्टो ने बताया कि इस वैक्सीन का नाम हमने पिटगोवैक (PittGoVacc) रखा है। इस वैक्सीन की असर की वजह से चूहे के शरीर में ऐसे एंटीबॉडीज पैदा हो गए हैं जो कोरोना वायरस को रोकने में कारगर हैं।

यह भी पढ़ें: Corona के खिलाफ ये दोनों लड़ रहे जंग

यह भी पढ़ें: Corona : करुणा के साथ, षड्यंत्र से दूर

-Adv-

 

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।)

Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More