पीएम मोदी पर डाली आपत्तिजनक पोस्ट, बाप-बेटा भेजे गये जेल

0 269

गौतमबुद्ध नगर: पीएम नरेंद्र मोदी पर आपत्तिजनक टिप्पणी और पोस्ट करने के फेर में फंसे पिता-पुत्र को नोएडा पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तारी बाप-बेटे को अदालत में पेशी के बाद जेल भेज दिया गया है।

कोरोना वायरस को लेकर जहां एक तरफ लोग बेहद डरे हुए हैं, वहीं कुछ लोग इस गंभीर मुद्दे पर भी शरारतों से बाज नहीं आ रहे हैं। ऐसे लोग सोशल मीडिया पर कोरोना को लेकर तरह-तरह की अफवाहें भी फैला रहे हैं। ऐसे लोगों पर पुलिस की कड़ी नजर है और अफसरों का कहना है कि उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

कोरोना वायरस को लेकर वर्चुअल दुनिया में भी जमकर हंगामा मचा हुआ है। सोशल मीडिया पर मौजूदा वक्त में इसे लेकर पोस्ट, ट्वीट या मैसेजेज की बाढ़ सी आ गई है। खास बात यह है कि इसमें जहां कई संदेश लोगों को वास्तव में जागरूक करने वाले हैं, वहीं बहुत से मैसेज महज अफवाह और शरारत के चलते पोस्ट किए जा रहे हैं। मसलन कुछ संदेशों में आयुर्वेद या किसी फल के सेवन से कोरोना से बचाव की सलाह दी जा रही है।

कुछ लोग विशेष दवाओं के बारे में भी व्हाट्सएप, फेसबुक, ट्वीटर पर मैसेज डाल रहे हैं। जिसे लोग बिना जाने समझे फारवर्ड व शेयर भी कर रहे हैं। इसे देखते हुए पुलिस ने भी कमर कस ली है। सोशल मीडिया पर कोरोना को लेकर फर्जी और मनगढ़ंत पोस्ट करने वालों पर भी उसकी नजर है। जिला पुलिस का सोशल मीडिया सेल ऐसे यूजरों के अकाउंट पर कड़ी नजर रख रहा है।

यह भी पढ़ें : राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने प्रधानमंत्री राहत कोष में दिए 11 लाख

दोनो के खिलाफ नोएडा कोतवाली फेज-2 में आपराधिक मामला दर्ज किया गया था। गिरफ्तार होकर जेल जाने वाले पिता पुत्र का नाम अब्दुल सलाम और बेटे का नाम रहमत है। दोनो श्रमिक कुंज में रहते हैं। इनके खिलाफ सेक्टर 93 में रहने वाले एक शख्स ने पुलिस से शिकायत की थी।

यह भी पढ़ें: बिहार से बाहर फंसे 1 लाख लोगों के बैंक खाते में भेजे गए 1000 रुपये

दोनो के खिलाफ संविधान के अनुच्छेद 19 (1) (ए) का दुरुपयोग करने के तहत केस दर्ज हुआ है। पिता पुत्र पर आरोप है कि इन्होंने प्रधानमंत्री से संबंधित एक पोस्ट व्हाट्सएप पर पर डाली थी। पुलिस के मुताबिक घटना एक दिन पहले की है।

-Adv-

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।)

Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More