एक-एक व्यक्ति का जीवन कीमती है- योगी आदित्‍यनाथ

0 250

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि एक-एक व्यक्ति का जीवन कीमती है. सरकार इसे बचाने का हर संभव प्रयास कर रही है. किसी भी स्तर पर लापरवाही नहीं होनी चाहिए. उन्होंने लोगों से अपील करते हुए कहा कि कोरोना से बचाव ही सर्वोत्तम उपाय है. कोविड प्रोटोकॉल का पालन कर खुद के साथ समाज की सुरक्षा की जा सकती है. सीएम योगी सोमवार को बीआरडी मेडिकल कॉलेज में कोविड नियंत्रण को लेकर गोरखपुर-बस्ती मंडल की समीक्षा बैठक करने के बाद पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे.

 

अर्ली, अग्रेसिव, ट्रेस, टेस्ट और ट्रीट का मिला है परिणाम

उन्‍हेांने कहा कि कोरोना के खिलाफ लड़ाई में प्रदेश में वृहद स्तर पर चलाए गए अर्ली, अग्रेसिव, ट्रेस, टेस्ट और ट्रीट अभियान के व्यापक परिणाम सामने आए हैं. पिछले 10 दिनों में राज्य में कोरोना के एक्टिव केस में 85,000 से अधिक की कमी आई है. कोरोना के फर्स्ट वेव में उत्तर प्रदेश ने बेहतर मुकाबला किया था, सेकंड वेव में भी उसी प्रबंधन के साथ काम किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि कोरोना के सेकंड वेव के खिलाफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मार्गदर्शन में पूरे देश में बड़ी मजबूती से अभियान चल रहा है. उन्होंने कहा कि बड़े बड़े विशेषज्ञ यह आशंका जता रहे थे कि उत्तर प्रदेश में पांच से 10 मई के बीच प्रतिदिन एक लाख कोरोना केस आएंगे, लेकिन अर्ली, अग्रेसिव ट्रेस, टेस्ट और ट्रीट अभियान का परिणाम रहा कि आशंका के विपरीत आज 21 हजार एक्टिव केस हैं, कल यह संख्या 23 हजार थी। एक्टिव केस की संख्या में लगातार गिरावट आ रही है.

प्रदेश में एक हजार मीट्रिक टन की आपूर्ति की गई

सीएम योगी ने बताया कि सेकंड वेव में संक्रमण का फैलाव कई गुना ज्यादा था। इस रफ्तार के चलते ऑक्सीजन की मांग भी तेजी से बढ़ी. कोरोना के फर्स्ट वेव में ऑक्सीजन की डिमांड पूरी करने को मेडिकल ऑक्सीजन प्लांट ही पर्याप्त थे, सेकंड वेव में अचानक मांग बढ़ गई. उन्होंने पीएम मोदी को इस बात के लिए धन्यवाद दिया कि उनके मार्गदर्शन में ऑक्सीजन की मांग को पूरी करने के लिए देश में पहली बार वायुसेना के विमानों और ऑक्सीजन एक्सप्रेस की मदद से ऑक्सीजन की आपूर्ति की गई. फर्स्ट वेव में 350 मीट्रिक टन तक लिक्विड मेडिकल ऑक्सिजन की जरूरत पड़ी थी, लेकिन कल उत्तर प्रदेश में एक हजार मीट्रिक टन की आपूर्ति की गई. कहा कि प्रदेश में वैक्सिनेशन का काम तेजी से चल रहा है. 18 वर्ष से अधिक के लोगों को निशुल्क टीका प्रदेश सरकार और 45 वर्ष से अधिक के लोगों को केंद्र सरकार उपलब्ध करा रही है.

यह भी पढ़ें : अवनीश अवस्थी के पिता का कोरोना से निधन

बीआरडी ने निभायी है महत्वपूर्ण भूमिका

सीएम योगी ने कहा कि कोरोना के फर्स्ट वेव में जब उन्होंने बीआरडी मेडिकल कॉलेज के सुपर स्पेशलिटी ब्लॉक में 500 बेड के डेडिकेटेड कोविड अस्पताल का उदघाटन किया था, तब बहुत मरीज नहीं थे. बीच में कुछ लोग इसे बंद करने को कहते थे, लेकिन हमने इसे बंद नहीं होने दिया. गोरखपुर और पूर्वी उत्तर प्रदेश के हजारों लोगों का जीवन बचाने में इस डेडिकेटेड कोविड अस्पताल, डॉक्टरों और अन्य स्टाफ ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। अलग-अलग जनपदों में भी ऐसा ही कार्य हुआ.

-Adv-

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं। अगर आप डेलीहंट या शेयरचैट इस्तेमाल करते हैं तो हमसे जुड़ें।)

Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More