बरेली में पीएसी की शारीरिक दक्षता परीक्षा के दौरान युवती की मौत

एजेंसी
बरेली से खबर है कि यहां के नकटिया में उत्तर प्रदेश की सशस्त्र पुलिस की पीएसी की प्रवेश परीक्षा के लिए शारीरिक दक्षता परीक्षण के दौरान बुधवार को एक 20 वर्षीया लड़की बेहोश हो गई और बाद में उसकी मौत हो गई।

लड़की 2,400 मीटर की दौड़ पूरी करते ही गिरकर बेहोश हो गई, जिसके बाद अस्पताल ले जाते समय उसकी रास्ते में मौत हो गई।

किसान की बेटी थी अंशिका सिंह

पुलिस में काम करने का सपना देखने वाली युवती की पहचान बागपत जिला में फजलपुर गांव निवासी एक किसान की बेटी अंशिका सिंह के रूप में हुई।

पीएसी कमांडेंट विकास कुमार वैद्य ने कहा कि अंशिका ने पीईटी उत्तीर्ण कर ली थी लेकिन दौड़ पूरी करते ही वह गिर गई।

14 मिनट में 2.4 किलोमीटर की दौड़ पूरी करनी होती है

पीईटी में महिला अभ्यर्थियों को 14 मिनट में 2.4 किलोमीटर की दौड़ पूरी करनी होती है वहीं पुरुष अभ्यर्थियों को 25 मिनट में 4.8 किलोमीटर की दौड़ पूरी करनी होती है।

अंशिका प्रवेश परीक्षा के लिए अपने पिता रामवीर सिंह के साथ आई थी, उसके पिता पीएसी मैदान के बाहर उसका इंतजार कर रहे थे। अंशिका स्वस्थ थी और शारीरिक रूप से स्वस्थ थी और उसने आसानी से दौड़ पूरी कर ली लेकिन अचानक से मैदान पर गिर गई। उसे अस्पताल ले जाया गया लेकिन तबतक उसकी मौत हो चुकी थी। उसका शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।

दो साल से पीएसी की प्रवेश परीक्षा की तैयारी कर रही थी

अंशिका के परिवार में उससे छोटे दो भाई हैं जो स्कूल में पढ़ते हैं। अंशिका पिछले दो साल से पीएसी की प्रवेश परीक्षा की तैयारी कर रही थी।

एक अन्य लड़की शालिनी सिंह (21) भी दौड़ पूरी करने से कुछ पहले बेहोश हो गई, जिसे अस्पताल ले जाया गया। उसकी हालत स्थिर बनी हुई है।