जिस थाली में खा रहे हैं उसमें छेद कर रहें फारुख

शर्म एक ऐसा गुण है जो इंसानों में पाया जाता है लेकिन इंसानों में एक प्रजाति है नेता जिसे शर्म नही आती। जिस तरह के बोल इन दिनों फारुख अब्दुल्ला बोल रहे है वो किसी पाकिस्तानी भक्त से कम नहीं है।जिस पीओके में फारुक भावुक होते नजर आ रहै हैं।

वोटो की फसल उगाने की कोशिश कर रहे हैं

फारुख अब्दुल्ला श्रीनगर के नेता हैं लेकिन उनकी बातें किसी पाकिस्तानी भक्त से कम नहीं हैं। उन्होंने हर भारतीय को चुनौती दी की लाल चौक पर झंडा फहरा कर दिखाओ। अब्दुल्ला जो कर रहे हैं वो वोटो की फसल उगाने की कोशिश कर रहे हैं।

also read : लो भईया मिल गया जवाब..अंडा शाकाहारी या मांसाहारी?

पीओके नेता तौकीर गिलानी जैसे नेताओं की आवाज शायद अब्दुल्ला साहब जैसे लोगों के कान में नहीं जा पा रही है। वीडियो में गिलानी बोल रहे हैं कि कश्मीर किसी की जागीर नहीं है।अब्दुल्ला साहब भी क्या कर सकते हैं वो भी इस मुद्दे के साथ राजनीतिक फसल बो कर अपनी गद्दी बचा रहे हैं।

 जिस थाली में खा रहे उसी में छेद कर रहे है

अब्दुल्ला साहब वीडियो में भाजपा को लाल चौक पर झंडा फहरा के दिखाने की बात कर रहे हैं। फारुख जितना चाहे पाक की भक्ति कर लें लेकिन उन्हें पाक के असली चरित्र का पता नहीं है। फारुख अब्दुल्ला को भारत पर आवाज उठाने से पहले जरा पाक पर भी एक नजर देख लेना चाहिये। उनके इस तरह के बयानों से साफ है कि वो सिर्फ सियासत कर रहे है और  जिस थाली में खा रहे उसी में छेद कर रहे है।

(साभार ः जी न्यूज)

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।)