उन्नाव : झोलाछाप डॉक्टर ने बनाया 40 लोगों को एचआईवी पीड़ित

उन्नाव के बांगरमऊ इलाके में एक साथ 40 लोगों में एचआईवी पॉजिटिव के लक्षण सामने आए ये 2017 नवम्बर में महीने में एक हेल्थ जांच कैम्प लगाया गया जिसकी रिपोर्ट में एक बड़ा खुलासा सामने आया है। जहाँ पर कई लोगों में एचआईवी पॉजिटिव के लक्षण देखने को मिले। एचआईवी पॉजिटिव के पेसेंट मिलने से जिले के स्वास्थ्य महकमे में हड़कंप मच गया और अब जिले के स्वास्थ्य अधिकारी इस पूरे मामले की जांच में जुट गए है।
उन्नाव स्वास्थ्य महकमें में मचा हड़कंप
उन्नाव के स्वास्थ्य महकमे में इस समय हडकंम्प मचा हुआ है। और हो भी क्यों न आखिरकार उन्नाव जिले में बड़ी तादाद में एचआईवी पॉजिटिव के पेसेंट जो सामने आये है। जहां पर यूपी सरकार स्वास्थ्य महकमे पर अरबों रुपया खर्च कर रही है वहीं, उन्नाव के बांगरमऊ इलाके के लगभग 40 लोगों में एचआईवी के लक्षण मिलने से जिले से लेकर लखनऊ तक स्वास्थ्य महकमें में हड़कंप मचा हुआ है।

हालांकि ऐसी जानकारी मिली है कि गाँव का ही एक झोलाछाप डॉक्टर द्वारा कई लोगो का इलाज किया गया और उनको एक ही सीरिंज से कई लोगों को इंजेक्शन दिए गए जिससे ये बीमारी लोगो के शरीर मे प्रवेश कर गयी। वहीँ गाँव के लोगो का मानना है कि अभी तो कुछ ही लोगों का चेकअप हुआ है जिससे ये अभी तक ये बीमारी लगभग 40 लोगों में देखने को मिली है और भी लोगों का चेकअप कराया जाए तो इसका आंकड़ा और भी बढ़ सकता है।
बांगरमऊ सीएचसी प्रभारी ने दी जानकारी

 वहीं, जब इस पूरे मामले में बांगरमऊ के पीएचसी प्रभारी से बात की गई तो उन्होंने बताया कि एक जांच कैम्प में ये एचआईवी पॉजिटिव के रोगी सामने आए लगभग 22 लोगो की ही स्वास्थ्य महकमे ने पुष्टि की है। और अभी भी इस लाइलाज बीमारी को बांटने वाले आरोपी से स्वास्थ्य महकमा अनजान है। हालांकि स्वास्थ्य महकमे के इस अधिकारी का कहना है कि अभी इसकी जांच जिले बड़े डाक्टरों को आलाधिकारियों द्वारा दी गयी है जिसकी जांच रिपोर्ट आने के बाद ही कुछ कह पाना संभव है।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।)