akhilesh ka bangla raja bhaiya ko

अखिलेश यादव के ‘महल में चलेगा ‘राजा भैया का राज!’

प्रतापगढ़ से निर्दलीय विधायक और बाहुबली रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भैया अब समाजवादी पार्टी अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री  अखिलेश (Akhilesh ) यादव  के महल में राज करेंगे। दरअसल, योगी सरकार ने अखिलेश यादव का बंगला राजा भैया को आवंटित कर दिया है।

आपको बता दे कि योगी सरकार ने इससे पहले सपा से बगावत कर अलग मोर्चा बनाने वाले शिवपाल यादव को बसपा सुप्रीमो मायावती का बंगला आवंटित कर दिया था।

अखिलेश के साथ मनभेद और मतभेद को भुनाने के चक्कर में सरकार

राजा भैया और शिवपाल यादव कभी अखिलेश के करीबी रहे हैं और अब मनमुटाव चल रहा है। इन दोनों पर ही योगी सरकार की खास कृपा बरसती नजर आ रही है। इसके पीछे योगी सरकार की मंशा साफ नजर आ रही है। जिन लोगों से अखिलेश का मनमुटाव या मतभेद है  योगी सरकार पर उसपर खास मेहरबान नजर आ रही है।

अब सुरक्षा में जेड प्लस सिक्‍योरिटी दी गई है

आपको बता दे कि समाजवादी सेक्युलर मोर्चा के संरक्षक शिवपाल यादव पर इन दिनों सूबे की सीएम योगी सरकार खास मेहरबान हो गई है। तभी तो शिवपाल पर योगी सरकार एक के बाद तोहफों की बारिश कर रही है। पहले योगी सरकार ने शिवपाल यादव को बसपा सुप्रीमो मायावती का महल यानि बंगला इनाम में दे दिया और अब सुरक्षा में जेड प्लस सिक्‍योरिटी दी गई है।

6एलबीएस वाला बंगला आवंटित कर दिया गया था

कुल मिलाकर ऐसा लग रहा है कि शिवपाल यादव को भतीजे अखिलेश यादव के खिलाफ बोलने का एक के बाद एक इनाम मिल रहा है। यूपी में सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव और सपा मुखिया मुलायम सिंह यादव के अलावा बहुजन समाज पार्टी की सुप्रीमो मायावती को ही जेड प्लस सुरक्षा प्राप्त है।

शुक्रवार को शिवपाल को मायावती का 6एलबीएस वाला बंगला आवंटित कर दिया गया था।माया के इस बंगले में अब समाजवादी सेक्युलर मोर्चा का कार्यालय बनेगा। अब से मायावती के बंगले में सपा के संरक्षक शिवपाल यादव रहेंगे। यह बंगला शुक्रवार को आवंटित कर दिया गया है। इसके बाद उन्होंने बंगले का निरीक्षण किया।

आपको बता दे कि प्रतापगढ़ के बाहुबली पूर्व मंत्री रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भैया  ने नई पार्टी के लिए शपथ पत्र चुनाव आयोग में दाखिल कर दिया है। राजा भैया की नई पार्टी का नाम ‘जनसत्ता दल’ हो सकता है। राजा भैया अपने राजनीतिक जीवन के 25 साल पूरे होने पर उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में 30 नवंबर को रैली करेंगे।

राजा भैया के नई पार्टी के आवेदन की कार्रवाई पूरी हो चुकी है। राजा भैया ने  बुधवार को अपनी नई पार्टी के लिए शपथ पत्र दाखिल कर दिया है। जानकारी के अनुसार राजा भैया की तरफ से अक्षय प्रताप उर्फ गोपाल ने मंगलवार को आवेदन किया था।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।)