कोलकाता में रैली रद्द होने पर बोले सीएम योगी, ‘अब याचना नहीं, रण होगा’

पश्चिम बंगाल हिंसा अब एक नया मोड़ ले रही है। कोलकाता में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की रैली रद्द कर दी गई। साथ ही योगी आदित्यनाथ की रैली का मंच भी तोड़ा गया। बीजेपी का आरोप है कि मंच बनाने वालों के साथ मारपीट की गई।

15 मई को योगी आदित्यनाथ को हावड़ा पहुंचना था। यह उनकी बेहाला इलाके में जेम्स लॉग सारानी में एक रैली होनी थी। लेकिन मीडिया रिपोर्ट की मानें तो स्थानीय प्रशासन ने सीएम योगी की रैली की अनुमति को रद्द कर दिया है। रैली रद्द होने के बावजूद योगी आदित्यनाथ ने बंगाल जाने का ऐलान किया है।

‘जीवन जय या कि मरण होगा’-

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इसके बाद ट्वीट कर ​कहा कि अब याचना नहीं, रण होगा। उन्होंने कहा, ‘बंगाल! सबसे पहले जय श्रीराम से आप सबका अभिवादन! आज आपके बीच रहूंगा। तानाशाहों तक यह संदेश पहुंचे कि राम इस देश के कण-कण में हैं, स्वतंत्रता इस देश की जीवनी-शक्ति है और मैं बंगाल के क्रांतिधर्मी युयुत्सु का आह्वान कर रहा हूँ। याचना नहीं, अब रण होगा, जीवन जय या कि मरण होगा! जय हो!’

 

अमित शाह की रैली के दौरान हुई थी हिंसा-

इससे पहले कोलकाता में बीजेपी राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की मेगा रैली में उन पर हमला हुआ। इसके बाद टीएमसी-बीजेपी समर्थक भिड़ गए। इस दौरान आगजनी भी हुई। ऐसे में बंगाल सीएम ममता बनर्जी और अमित शाह आमने-सामने हैं। ​अमित शाह ने प्रेस वार्ता कर टीएमसी और चुनाव अयोग पर बड़ा आरोप लगाया है।

पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में रोड शो के दौरान हुई हिंसा पर प्रेस कांफ्रेंस कर भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने हिंसा के लिए टीएमसी को जिम्मेदार ठहराया है।

उन्होंने कहा कि अब तक चुनाव के 6 चरण समाप्त हो चुके हैं, इन 6 के 6 चरणों में सिवाय बंगाल के कहीं भी हिंसा नहीं हुई। इसका साफ़ मतलब है कि हिंसा अखिल भारतीय तृणमूल कांग्रेस (TMC) कर रही है।

यह भी पढ़ें: कोलकाता हिंसा पर बोले अमित शाह, बंगाल में लोकतंत्र का गला घोटा जा रहा है

यह भी पढ़ें: देश के अंदर बहुत खतरनाक खेल खेला जा रहा है : अशोक गहलोत

 

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।)