वाराणसी : परवान चढ़ने लगी फिल्म सिटी की कवायद, भोजपुरी कलाकारों को मिलेगा नया प्लेटफार्म

धर्म और संस्कृति की नगरी वाराणसी अब कला के क्षेत्र में भी नया मुकाम हासिल करने जा रही है। शहर में बनने वाली फिल्म सिटी को लेकर हलचल बढ़ गई है। उत्तर प्रदेश फिल्म विकास परिषद के अध्यक्ष व हास्य कलाकार राजू श्रीवास्तव ने पिछले दिनों कहा है कि प्रदेश के कलाकारों को अब फिल्म में अभिनय करने के लिए मुंबई जाने की जरूरत नहीं होगी, वह अपने प्रदेश में रहकर ही अभिनय का हुनर दिखा सकेंगे। फिल्म सिटी बनाने के लिए पर्यटन विभाग ने फिल्म विकास परिषद को वाराणसी में 106 एकड़ जमीन दे दी है।

भोजपुरी फिल्मों का हब बनेगा वाराणसी-

सरकार के इस फैसले से खासतौर से भोजपुरी फिल्मों से जुड़े कलाकार बेहद खुश हैं। भोजपुरी फिल्मों केलिए अभी तक कोई खास जगह तय नहीं थी, जिसकी वजह से कलाकारों को परेशानी होती थी। लेकिन फ़िल्म सिटी को लेकर सरकार की बढ़ती रुचि के बाद कलाकारों में एक उम्मीद जगी है।

फ़िल्म सिटी के लिए वाराणसी के पिण्डरा इलाके में जमीन तलाशी गई है। फ़िल्म सिटी बनने से न सिर्फ कलाकरों को सहूलियत होगी बल्कि फ़िल्म से जुड़े लोगों को भी रोजगार मिलेगा।

लंबे समय से हो रही है फ़िल्म सिटी बनाने की मांग-

राजू श्रीवास्तव ने बताया कि काफी समय से प्रदेश में फिल्म सिटी बनाए जाने की मांग की जा रही थी। यहां के शहरों में रहने वाले प्रतिभावान युवक व युवतियों को अपनी किस्मत आजमाने के लिए अभी मुंबई जाना पड़ता है। इनमें कुछ सफल हो जाते हैं तो कुछ संघर्ष करते रहते हैं। अब उन्हें अपने ही प्रदेश में अपना हुनर दिखाने का अवसर मिलेगा।

अभिनय की ख्वाहिश रखने वालों के अलावा फिल्म बनाने वालों को भी यहां पर आसानी से मंच मिल सकेगा। इसके लिए वह प्रदेश के प्रमुख उद्योगपतियों व निर्माताओं को आमंत्रित करेंगे। उम्मीद है कि जल्द ही प्रदेश में फिल्में बनने का सिलसिला शुरू हो जाएगा।

यह भी पढ़ें: …तो इसलिए सलमान नहीं देते किसिंग सीन 

यह भी पढ़ें: लखनऊ पहुंचे बिग बी, अमीनाबाद-हजरतगंज में करेंगे शूटिंग

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।)