पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र में वैक्सीन की किल्लत, इन दो राज्यों ने भी खड़े किए हाथ

0 159

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के निर्वाचन क्षेत्र वाराणसी में कोविड वैक्सीन (vaccine) की कमी के चलते लगभग 60 प्रतिशत सरकारी टीकाकरण केंद्रों को बंद करना पड़ा है। वाराणसी में 66 सरकारी टीकाकरण केंद्रों में से केवल 25 पर ही कोविड टीकाकरण हो रहा है। वाराणसी के चौकाघाट स्थित जिला स्तरीय टीका वितरण केंद्र भी बंद कर दिया गया है। वहां के स्वास्थ्य कार्यकर्ता श्यामजी प्रसाद ने कहा कि लखनऊ से वैक्सीन की आपूर्ति में भारी कमी आई है। चूंकि वाराणसी में टीकों की मांग बहुत ज्यादा है, लिहाजा यहां डोज कम पड़ रहे हैं।

वैक्सीन की उपलब्धता में कमी

श्यामजी प्रसाद ने यह भी कहा कि कोवैक्सीन और कोविशील्ड दोनों की उपलब्धता में कमी आई है और यह कमी डिवीजनल स्तर पर भी है। वाराणसी के एक कोविड टीकाकरण केंद्र में एक साइन बोर्ड लगा है, जिसमें लिखा गया है, “अगले आदेश तक इस क्लिनिक में कोविड टीकाकरण की सुविधा उपलब्ध नहीं है।”

चौकाघाट सरकारी आयुर्वेदिक अस्पताल की प्रिंसिपल डॉ.नीलम गुप्ता ने कहा कि औसतन 450-500 लोग हर दिन इस केंद्र पर टीकाकरण करवाते हैं, लेकिन बुधवार को वैक्सीन डोज की उपलब्धता न होने के कारण उन्हें वापस जाना पड़ा।

यह भी पढ़ें- लखनऊ बना यूपी का कोरोना ‘हॉटस्पॉट’, डरा रहे हैं ये आंकड़े और शवदाह गृहों की तस्वीर

वाराणसी टीकाकरण अधिकारी डॉ.विजय शंकर राय ने कहा कि इस कमी के पीछे वजह रीजनल वैक्सीन स्टोर में कम स्टॉक है। उन्होंने कहा कि हालांकि लखनऊ में वैक्सीन (vaccine) की कोई कमी नहीं है, लेकिन यह वाराणसी तक नहीं पहुंच पा रहा है।

2 से 3 हजार लोगों को रोज दी रही वैक्सीन

उन्होंने आगे कहा, “मैं लोगों से अनुरोध करता हूं कि वह थोड़ा धैर्य रखें, वैक्सीन (vaccine) डोज जल्द ही आ जाएंगे। चूंकि सरकार हमेशा हमें एडवांस में ही स्टॉक भेज देती है, इसलिए हमें पहले कभी ऐसी समस्या का सामना नहीं करना पड़ा। हम रोजाना 2,500-3,000 लोगों को टीका लगा रहे थे, जिसे हम बढ़ाकर करीब 7,000 तक ले गए थे। अप्रैल मैं वैक्सीन में हुई कमी का मैं सटीक कारण नहीं दे सकता हूं।” इस बीच जब उत्तर प्रदेश सरकार के वरिष्ठ अधिकारियों से संपर्क किया गया, तो उन्होंने इस स्थिति पर टिप्पणी करने से इनकार कर दिया।

महाराष्ट्र में वैक्सीन की कमी

आपको बता दें कि, वैक्सीन (vaccine) की कमी को लेकर महाराष्ट्र सरकार और केंद्र सरकार आमने-सामने आ गई हैं. महाराष्ट्र सरकार का कहना है कि, राज्य में वैक्सीन का स्टॉक खत्म हो रहा है. कई जिलों में लोग टीकाकरण केंद्र से बिना वैक्सीन लगवाए मजबूरी में वापस लौट रहे हैं क्योंकि डोज खत्म हो चुकी हैं. वहीं इस आरोप पर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन सिंह ने कहा है कि, वैक्सीन की कमी कहीं भी नहीं हो रही है. सभी राज्यों को लगातार वैक्सीन भेजी रही है.

ओडिशा में वैक्सीन खत्म से 700 केंद्र ठप

ओडिशा में वैक्सीन खत्म होने की वजह से राज्य के1400 केन्द्रों में 7 सौ को बंद करना पड़ा है. राज्य के स्वास्थ्य मंत्री ने चिट्ठी लिखकर केंद्र सरकार को इसकी जानकारी दी है. ओडिशा के स्वास्थ्य मंत्री नब किशोर दास के मुताबिक, राज्य में कई जगह टीकाकरण का कार्य रोक दिया गया है. हमारे पास सिर्फ दो दिन का स्टॉक बचा हुआ है. स्टॉक में सिर्फ 5.34 लाख वैक्सीन की डोज बची हुई हैं.

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं। अगर आप डेलीहंट या शेयरचैट इस्तेमाल करते हैं तो हमसे जुड़ें।)

Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More