भारत, पाकिस्तान के बीच तनाव हुआ कम : डोनाल्ड ट्रंप

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा है कि भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव पिछले दो सप्ताह में कम हुआ है। इसके साथ ही उन्होंने दोहराया कि अगर दोनों देश चाहें तो वह दो दक्षिण एशियाई पड़ोसी देशों की मदद करने के लिए तैयार हैं।

ट्रम्प ने फ्रांस में 26 अगस्त को जी-7 शिखर सम्मेलन से इतर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से मुलाकात करने के करीब दो सप्ताह बाद पहली बार इस मामले पर अपनी राय रखी।

ट्रम्प ने व्हाइट हाउस में सोमवार को पत्रकारों से कहा, ‘जैसा कि आप जानते हैं कि भारत और पाकिस्तान के बीच कश्मीर को लेकर तनाव है। लेकिन मुझे लगता है कि पिछले दो सप्ताह की तुलना में अब यह थोड़ा कम हुआ है।’

भारत और पाकिस्तान के बीच हालात पर उनकी राय के बारे में पूछे जाने पर ट्रम्प ने कहा, ‘मेरे दोनों देशों के साथ अच्छे संबंध हैं। मैं उनकी मदद करने को इच्छुक हूं, अगर वे चाहें। उन्हें यह पता है। प्रस्ताव अब भी बरकरार है।’

दोनों देशों के बीच तनाव-

गौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 के अधिकतर प्रावधान हटाए जाने के बाद से दोनों देशों के बीच तनाव बढ़ गया है।

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के साथ जुलाई में हुई बैठक में भी ट्रम्प ने दोनों देशों के बीच कश्मीर के मामले को लेकर मध्यस्थ बनने का प्रस्ताव दिया था।

भारत ने हालांकि कश्मीर मामले को द्विपक्षीय बताते हुए प्रस्ताव तुरन्त ठुकरा दिया था। उसने ट्रम्प के आश्चर्यजनक दावे को भी खारिज कर दिया है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने उन्हें मध्यस्थता करने के लिए कहा था।

फ्रांस में पिछले महीने मोदी के साथ मुलाकात के दौरान ट्रम्प ने अपना रुख बदलते हुए कहा था कि कश्मीर का मामला भारत और पाकिस्तान के बीच हल होना चाहिए।

अनुच्छेद 370 निरस्त करने के कदम को आंतरिक मामला बताते हुए भारत ने पाकिस्तान की भी ‘गैरजिम्मेदाराना बयान’ देने और आंतरिक मुद्दों पर भारत विरोधी बयानबाजी करने की कड़ी निंदा की थी।