30 हजार रुपये के लिए महिलाएं हो गईं ‘विधवा’, जानें क्यों ?

0 307

दलालों के गठजोड़ और भ्रष्ट अफसरों की लापरवाही के चलते यूपी सरकार की एक और लाभकारी योजना में घपले का खुलासा हुआ है। इस बार राष्ट्रीय पारिवारिक लाभ योजना से सरकारी धन को हड़पा है।

30 हजार रुपये के लिए 21 महिलाओं को विधवा बना दिया गया है जबकि असलियत में उनके पति जिंदा हैं। दरअसल, उत्तर प्रदेश में सरकार ने राष्ट्रीय पारिवारिक लाभ योजना की शुरुआत की।

इस तरह चल रहा था घपला-

योजना में गरीबी रेखा के नीचे रहने वाले परिवार के कमाऊ मुखिया की 60 साल से पहले असामयिक मौत होने पर पत्नी को 30,000 की रकम सहायता राशि मिलती है। भ्रष्ट अफसरों और दलालों ने गरीब विधवा महिलाओं को मिलने वाली इसी 30,000 रुपये को हजम कर लिया।

गोरखपुर, कानपुर, बलरामपुर, चित्रकूट में इस योजना में घोटाले की शिकायतें पहले ही की जा चुकी हैं। ताजा मामला लखनऊ से सामने आया है। यहां 21 ऐसी फर्जी लाभार्थी मिली हैं।

कई लोगों ने उठाया इस योजना का लाभ-

ये ऐसे लाभार्थी है जिन्हें उनके पति के जीवित होने पर भी इस योजना का लाभ मिला और उनके खाते में 30 हजार की रकम जमा कराई गई।

मीडिया के सूत्रों के मुताबिक, लखनऊ के सरोजनी नगर तहसील के बंथरा और चंद्रावल गांव में साल 2019-20 और 20-21 में कुल 88 लोगों को इस योजना का लाभ दिया गया था।

तय था भ्रष्ट अफसरों का कमीशन-

शुरुआती जांच में सामने आया है कि लाभ पाने वाली इन महिलाओं में 21 महिलाएं ऐसी थी जिनके पति जीवित हैं और महिलाओं को फर्जी ढंग से भुगतान किया गया। बताया जा रहा है कि इस फर्जी भुगतान में दलाल और भ्रष्ट अफसरों का कमीशन तय था।

यह भी पढ़ें: दिन में पति तो रात में अपनी ही पत्नी का बाप बन जाता है ये शख्स, देखें वीडियो

यह भी पढ़ें: इस तरह जवानों ने कराया आतंकी को सरेंडर, वीडियो हुआ वायरल

-Adv-

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं। अगर आप हेलो एप्प इस्तेमाल करते हैं तो हमसे जुड़ें।)

Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More