सिपाहियों ने पेश की इंसानियत की मिसाल, रक्तदान कर बचाई तीन भाई-बहनों की जान

0 193
यूं तो वर्दीधारी पुलिस का बर्बर चेहरा लोगों के दिलों दिमाग में फितूर की तरह बसा हुआ है। लेकिन जो खबर हम आपको बताने जा रहे हैं। उसे देख कर यकीन मानिये पुलिस के प्रति गलत सोच का वहम कुछ हद तक दूर हो जाएगा। मामला बहराइच जिले का है। जहां पुलिस के 4 जवानों ने SP की अपील सुनकर 3 सगे भाई-बहनों को रक्तदान करके जान बचाने का काम किया है।

 

दरअसल मामला बुधवार का है। पुलिस अधीक्षक बहराइच सुजाता सिंह को फोन पर सूचना प्राप्त हुई कि कटिलिया भूपसिंह थाना रिसिया जनपद बहराइच के रहने वाले इमरान उम्र 24 वर्ष, फैजान खा उम्र 06 वर्ष व सना उम्र 10 वर्ष सगे भाई-बहन हैं। जो थैलासीमिया नामक गम्भीर बीमारी से ग्रस्त हैं। जिनका इलाज पीजीआई लखनऊ में चल रहा है। और उन्हें रक्त की तत्काल आवश्यकता है।

पिता मुंशरीफ का पूर्व में निधन हो जाने के कारण उनके इलाज की जिम्मेदारी उनकी माता हाजरून उठा रही हैं। उनके द्वारा हर संभव प्रयास करने के बावजूद कोई रक्तदान करने वाला व्यक्ति उन्हें नहीं मिल पा रहा था।

इस संबंध में सूचना प्राप्त होने पर पुलिस अधीक्षक द्वारा रक्तदान करने की अपील की गई। जिसके क्रम में पुलिस अधीक्षक महोदया के स्कोर्ट में तैनात आरक्षी धनंजय कुमार, आरक्षी जयेन्द्र वर्मा, आरक्षी संजीव कुमार यादव व डायल 112 की पीआरबी 1535 पर तैनात आरक्षी हरि शंकर पाण्डेय द्वारा पीड़ितों का जीवन बचाने हेतु रक्तदान करने का निर्णय लिया गया।

सभी ने जिला अस्पताल बहराइच पहुंच कर रक्तदान कर मानवता की मिसाल पेश की। आरक्षीगण के द्वारा रक्तदान किये जाने से भावविभोर होकर हाजरुन ने उन्हें धन्यवाद देते हुए उज्ज्वल भविष्य की शुभकामनाएं दी। पुलिस अधीक्षक द्वारा आरक्षी गण को उनके इस सराहनीय कार्य की प्रशंसा करते हुए गुड एंट्री प्रदान की गई है।

यह भी पढ़ें : मोदी सरकार के 7 सालों में पेट्रोल 22 रुपये हुआ महंगा

-Adv-

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं। अगर आप डेलीहंट या शेयरचैट इस्तेमाल करते हैं तो हमसे जुड़ें।)

Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More