IPS तबादले से भड़के अखिलेश यादव, सरकार को सुनाई खरी-खोटी

0 56,448

उत्तर प्रदेश में देर रात 10 आईपीएस अधिकारियों के हुए तबादलों पर समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने निशाना साधा और कहा कि यह काम पुलिस के मनोबल को गिराने वाला है।

अखिलेश यादव ने बुधवार को ट्वीट करके लिखा, ‘कोरोनाकाल में प्रशासनिक स्थायित्व की आवश्यकता सामान्यकाल से अधिक है, ऐसे में एडीजी व आईजी स्तर के 10 उच्चाधिकारियों का तबादला पुलिस के मनोबल को गिराने का काम है। सरकार अपनी नीतिगत असफलता व केंद्र-राज्य के बीच समन्वय की कमी से बिगड़ी कानून-व्यवस्था का आरोप अधिकारियों पर लगा रही है।’

UP में 10 IPS अधिकारियों का तबादला-

ज्ञात हो कि लॉकडाउन के दौरान शासन ने प्रदेश में 10 आईपीएस अधिकारियों के तबादले कर दिये हैं। इसमें एडीजी कानून-व्यवस्था पी.वी.रामाशास्त्री को प्रभारी डीजी विजिलेंस की जिम्मेंदारी दी है। यह प्रभार अब तक डीजीपी हितेश चन्द्र अवस्थी के पास था।

इसके अलावा 1990 बैच के आइपीएस प्रशांत कुमार को एडीजी कानून व्यवस्था का अहम पद मिला है। वह करीब तीन साल से मेरठ जोन में तैनात थे। उन्हें फील्ड का लंबा अनुभव भी है। एस.के.भगत को गृह विभाग में सचिव पद की जिम्मेदारी दी गई है। अंजू गुप्ता को एडीजी पीटीसी मेरठ बनाया गया है। वहीं लक्ष्मी सिंह को आइजी लखनऊ रेंज में तैनात किया गया है। नीरा रावत को एडीजी वूमन पावर लाइन की जिम्मेदारी मिली है।

यह भी पढ़ें: अखिलेश यादव का दावा – यूपी के 2022 विधानसभा चुनाव में जीतेंगे 351 सीटें

यह भी पढ़ें: सूटकेस पर आधे लटके हुए बच्चे को मिली अखिलेश यादव की मदद

-Adv-

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं। अगर आप हेलो एप्पडेलीहंट या शेयरचैट इस्तेमाल करते हैं तो हमसे जुड़ें।)

Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More