अभिनंदन को मारने के लिए पाकिस्तान ने रची थी ये साजिश!

पाकिस्तान के एफ-16 लड़ाकू विमान को नियंत्रण रेखा (LoC) से खदेड़ने के दौरान पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (PoK) में गिरे भारतीय वायुसेना के विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान सुरक्षित भारत लौट सकते थे लेकिन पाकिस्तान के नापाक इारादों को चलते ऐसा नहीं हो गया।

पाकिस्तान चाहता था कि वह भारतीय सैनिक को मार दे लेकिन वह ऐसा नहीं कर सका। दरअसल वॉर रूम से अभिनंदन को नियंत्रण रेखा पार करते ही वापस लौटने का संदेश भेजा गया ​था लेकिन पाकिस्तान ने उनके कम्युनिकेशन सिस्टम को ही जाम कर दिया था जिसकी वजह से अभिनंदन को संदेश नहीं मिल पाया और उन्हें पाकिस्तान में उतरना पड़ा।

एक प्रतिष्ठित समाचार एजेंसी में प्रकाशित खबर के मुताबिक, अगर विंग कमांडर अभिनंदन के मिग-21 में एंटी जैमिंग तकनीक होती तो वह संदेश मिलने के बाद तुरंत वापस लौट सकते थे। इसे उन्हें पाकिस्तान में उतरने से बचाया जा सकता था।

पाकिस्तान चाहता था कि भारतयी वायुसेना के विमान का कम्युनिकेशन सिस्टम जाम कर दिया जाए वह विमान को घेर कर मार सके।

पाकिस्तानी सरज़मीं से वापस सलामत लौटे अभिनंदन-

गौरतलब है कि 14 फरवरी को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर आतंकी हमला हुआ था। इस हमले में 40 भारतीय जवान शहीद हो गए थे।

इस हमले के ठीक 13 दिन बाद भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान के बालाकोट में घुसकर आतंकी कैंपों को ध्वस्त कर दिया था। इस हमले में कई आतंकियों के मारे जाने की खबर मिली थी।

बालाकोट एयर स्ट्राइक के बाद बौखलाए पाकिस्तान ने दो दिन बाद अपने एफ-16 लड़ाकू विमान से भारत के नियंत्रण रेखा में घुसने की कोशिश की। उस समय विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान ने मिग-21 से पाकिस्तानी विमान को वापस खदेड़ दिया।

हालांकि वे इजेक्ट होने के दौरान पाकिस्तानी सीमा में जा गिरे। बाद में अंतर्राष्ट्रीय दबाव के बाद पाकिस्तान ने भारतीय जवान को वापस भारत को सौंप दिया।

यह भी पढ़ें: कांग्रेस की डिमांड- अभिनंदन की मूंछ घोषित हो ‘राष्ट्रीय मूंछ’

यह भी पढ़ें: पीओके में पहुंचते ही अभिनंदन ने किया ये काम…

 

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।)