tmc mla murder case FIR against bjp leader mukul roy

TMC विधायक की हत्या: भाजपा नेता पर केस दर्ज, दो गिरफ्तार

पश्चिम बंगाल के नदिया जिले में शनिवार रात को सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस के विधायक सत्यजीत विश्वास की हत्या के मामले में भाजपा नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री मुकुल राय समेत चार लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने यह जानकारी दी। वहीं मामले में दो लोगों को गिरफ्तार भी कर लिया गया है।

TMC विधायक विश्वास की गोली मार कर हत्या:

दरअसल, राज्य विधानसभा की किशनगंज विधानसभा क्षेत्र के विधायक विश्वास (41) को फूलबाड़ी इलाके में उनके घर के पास सरस्वती पूजा के एक पंडाल में काफी नजदीक से गोली मारी गई थी। उन्हें तुरंत स्थानीय अस्पताल ले जाया गया जहां डाक्टरों ने विश्वास को मृत घोषित कर दिया। रविवार को उनका शव अंतिम संस्कार के लिए घर लाया गया जहां सैकड़ों लोगों ने उन्हें श्रद्धांजलि दी। शाम को विश्वास का अंतिम संस्कार कर दिया गया।

ये भी पढ़ें: प्रियंका गांधी के रोड शो से पहले अनोखा पोस्टर वॉर

चार लोगों के खिलाफ मामला दर्ज:

इस घटना के बाद पुलिस ने चार लोगों के खिलाफ मामला दर्ज करते हुए दो की गिरफ्तारी कर ली। जबकि तीन अन्य को हिरासत में लिया गया है। वहीं विधायक को गोली मारने के लिए इस्तेमाल की गयी देसी रिवॉल्वर भी बरामद कर ली गयी है।

भाजपा नेता मुकुल राय के खिलाफ भी केस दर्ज:

अधिकारी के मुताबिक़, शुरुआती जांच में ऐसा लगता है कि पीड़ित को पीछे से गोली मारी गई और यह सोची समझी साजिश का हिस्सा था। उन्होंने बताया कि नादिया की सीमा बांग्लादेश से लगती है और इस बात की आशंका है कि वे (हमलावर) पड़ोसी देश भागने की कोशिश कर सकते हैं। सीमा पर आवाजाही पर नजर रखने के लिए पुलिस हाईअलर्ट पर है।

ये भी पढ़ें: महासचिव प्रियंका गांधी का ‘जहरीली शराबकांड’ पर पहला आधिकारिक बयान

टीएमसी के पूर्व सांसद रह चुके मुकुल रॉय:

वहीं इस मामले में आरोपी मुकुल राय को बताया जा रहा है, जो वर्तमान में भाजपा के नेता है। बता दें कि मुकुल रॉय टीएमसी के पूर्व सांसद हैं। मनमोहन सरकार में वह रेल मंत्रालय का कार्यभार संभाल चुके हैं। ममता बनर्जी के साथ रिश्तों में आई खटास के बाद उन्होंने पिछले साल भाजपा का दामन थाम लिया था। शारदा चिटफंड मामले में भी उनका नाम आया था। ममता बनर्जी ने जब रेल मंत्री पद से इस्तीफा दिया था तब मुकुल रॉय को यह कार्यभार सौंपा गया था।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।)