बापू के हत्यारे का बनेगा मंदिर

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे का मंदिर बनाया जाएगा। इस मंदिर का निर्माण अखिल भारतीय हिंदू महासभा करने जा रही है। 15 नवंबर को यानि जिस दिन गोडसे को फांसी दी गई थी, उस दिन मंदिर के निर्माण की आधारशिला रखी जाएगी।

also read : ये हैं असल जिंदगी का टारजन, देखें वीडियों

अखिल भारतीय हिंदू महासभा ने ग्वालियर में इसे बनाए जाने का ऐलान किया। हिंदू महासभा ने मंदिर कमेटी का गठन कर प्रशासन से जमीन मांगने की कवायद भी शुरू कर दी। लेकिन जब प्रशासन ने जमीन देने से इनकार कर दिया, तो अब महासभा अपने ही कार्यालय में गोडसे का मंदिर बनाएगी। महासभा ने ग्वालियर में मंदिर निर्माण की शुरुआत के लिए 15 नंवबर की तारीख तय की है।

तर्क है कि नाथूराम गोडसे देशभक्त था

महासभा भारत माता के साथ नाथूराम गोडसे की प्रतिमा भी स्थापित करेगी। मंदिर बनाए जाने को लेकर हिंदू महासभा का तर्क है कि नाथूराम गोडसे देशभक्त था। हिंदू महासभा के डॉ. जयवीर भारद्वाज ने बताया कि हमने मंदिर निर्माण के लिए जिला प्रशासन के पास जमीन आवंटित करने के लिए आवेदन दिया था।

also read : अमित शाह के इलाके से शुरू होगा ‘घर-घर कांग्रेस’ अभियान

प्रशासन के आवेदन नामंजूर करने की वजह से अब महासभा ने दौलतगंज स्थित अपने कार्यालय के परिसर में ही मंदिर निर्माण का फैसला लिया है। वहीं, महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे का मंदिर ग्वालियर में बनाए जाने की खबर जैसी कांग्रेस के पास पहुंची है तो वह आक्रामक मूड में आ गई है।

राष्ट्रपिता के हत्यारे का मंदिर बनाने की बात कर रही है

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कृष्णराव दीक्षित ने कहा है कि हिंदू महासभा, आरएसएस और बीजेपी का ही हिस्सा है, जो अब राष्ट्रपिता के हत्यारे का मंदिर बनाने की बात कर रही है। कांग्रेस ने साफ कहा है कि अगर मंदिर के नाम पर एक ईंट भी रखी गई तो कांग्रेस सड़कों पर उतरकर पुरजोर तरीके से विरोध दर्ज कराएगी।

(साभार -न्यूज 18)

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।)