कुछ ऐसा था रोहित सरदाना का जीवन, जानिए पूरी कहानी

0 1,148

आज तक के मशहूर न्यूज एंकर एंकर रोहित सरदाना की कोरोना से मौत हो गई है। लंबे समय तक जी न्यूज में एंकर रहे रोहित सरदाना इन दिनों आज तक न्यूज चैनल में एंकर के तौर पर काम कर रहे थे।

रोहित सरदाना एक प्रसिद्ध भारतीय पत्रकार, एंकर, स्तंभकार, संपादक थे। भारत के हरियाणा में जन्मे, रोहित हिंदू धर्म का पालन करते हैं।उन्होंने अपनी शिक्षा गुरु जम्भेश्वर विज्ञान और प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय से पूरी की। उन्होंने वहां से मनोविज्ञान में स्नातक(BA) की डिग्री हासिल की है, और उसी यूनिवर्सिटी से मास कम्युनिकेशन में मास्टर्स (MA) की डिग्री हासिल की है। उन्होंने समाज के बीच अविश्वास और मुद्दों को दूर करने के लिए कई बहस की मेजबानी की है।

यह भी पढ़ें : दुखद: मशहूर न्यूज एंकर रोहित सरदाना की कोरोना से मौत

उनके परिवारके बारे में बात करने पर पता चलता है कि उनका एक भाई है जो कंप्यूटर साइंस इंजीनियर है। रोहित सरदाना वर्तमान में शादीशुदा हैं और उनकी दो बेटियां भी हैं। एक इंटरव्यू में, रोहित सरदाना ने बताया कि उन्होंने नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा में भी दाखिला लिया था क्योंकि वह हमेशा से अभिनेता बनना चाहते थे लेकिन दुर्भाग्य से, उन्हें एनएसडी से बाहर होना पड़ा क्योंकि वहां पर कुछ हासिल नही हो पा रहा था। यही समय था जब उन्होंने पत्रकार बनने का फैसला किया।

 

बचपन से रोहित का सपना था चाहे जो हो मुझे टीवी पर आना है, इसीलिए उन्होंने पत्रकारिता में करियर बनाने का सोचा। शुरुआत में रोहित कुछ अखबारों के लिए भी लिखते थे, और यही वजह रही उनके टीचर ने उन्हें पढ़ाई के साथ काम करने के लिए भी कहा। रोहित ने फिर कुछ इंटरव्यू दिए और उनकी रेडिओ स्टेशन में नौकरी लग गई। रोहित पढाई के साथ ही नौकरी भी करने लगे। वहीँ से उनके काम को देखते हुए, सिटी केबल ने भी एक शो रोहित को दे दिया। कुछ डेढ़ साल रोहित ने इसी तरह काम किया।

जब रोहित को लगा इतने से काम नहीं चलेगा कुछ और बड़ा करना पड़ेगा, तब रोहित दिल्ली आ गये. वहां रोहित को ई-टीवी नेटवर्क के साथ इंटर्न के रूप में काम करने का मौका मिला। फिर ई-टीवी ने ही उन्हें जॉब ऑफर की, और फिर रोहित ने उनके साथ एक पत्रकार के रूप में काम करना शुरू कर दिया। वहां से रोहित का बाद में ट्रान्सफर हैदराबाद हो गया। वहां रोहित ने महीने टीवी-एंकर का ऑडिशन दिया पर कुछ सफल नही हो पाए।

फिर रोहित ने 5 महीने वीडियो एडिटर की ट्रेनिंग की और वही का करना शुरू कर दिया। कुछ समय बाद गुजरात में चुनाव हुए उसके चलते रोहित ने अपने काम से सभी को चकित कर दिया। इसी हुनर को देखते हुए रोहित को टीवी पर एंकरिंग करने का मौका मिला, और वहीँ से शुरू हुआ रोहित का एक टीवी एंकर के रूप में करियर।

2004 में, सहारा के लिए उन्हें सहायक निर्माता के रूप में काम करने का मौका मिला और ज़ी न्यूज़ में कार्यकारी संपादक के रूप में शामिल होने से पहले उन्होंने सहारा में दो साल तक काम किया।

ज़ी न्यूज़ में एक डिबेट शो “ताल-ठोक” के किया करते थे, जिसमे वे समकालीन और सामाजिक मुद्दों पर चर्चा करते थे. इस शौ से उन्होंने काफी नाम कमाया। 2017 में, उन्होंने ज़ी न्यूज़ को छोड़, आजतक में ज्वाइन कर लिया और अब वे डिबेट शो दंगल की मेजबानी करते थे।

रोहित सरदाना को कई पुरस्कारों से भी सम्मानित किया गया है और उन पुरस्कारों में संसुई बेस्ट न्यूज़ प्रोग्राम अवार्ड, माधव ज्योति सम्मान और सर्वश्रेष्ठ समाचार एंकर अवार्ड शामिल हैं जो दिल्ली एजुकेशन सोसाइटी द्वारा प्रायोजित किया गया था।

-Adv-

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं। अगर आप डेलीहंट या शेयरचैट इस्तेमाल करते हैं तो हमसे जुड़ें।)

Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More