aron

फिंच : ऐसा लगा जैसे मेरी उंगली ही फट जाएगी

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच टेस्ट सीरीज के दूसरे टेस्ट में पिच को लेकर हुआ विवाद पर बयानों का सिलसिला जारी है। पर्थ के ऑप्टस मैदान की इस पिच पर मैच के पांचों दिन असमान उछाल रहा था।

इसके बाद आईसीसी की रिपोर्ट में पिच को औसत करार दिया गया जिसके बाद प्रतिक्रियाओं का सिलसिला शुरू हो गया। इसी बीच ऑस्ट्रेलिया के विस्फोटक सलामी बल्लेबाज एरोन फिंच ने बताया कि जब उन्हें इसकी वजह से चोट लगी तब वे क्या महसूस कर रहे थे।

फिंच ने कहा कि भारत के खिलाफ पर्थ टेस्ट के दौरान चोटिल होने के बाद उन्हें लगा कि उनकी उंगली फट जाएगी। फिंच को बल्लेबाजी के दौरान मोहम्मद शमी की गेंद पर दाएं हाथ की उंगली में चोट लगी थी। हालांकि, वे मेलबर्न में होने वाले तीसरे टेस्ट मैच के लिए पूरी तरह से फिट हैं। ‘क्रिकइंफो’ ने फिंच के हवाले से बताया, “चोट लगने के तुरंत बाद मुझे काफी दर्द हुआ। मुझे ऐसा लग रहा था कि मेरी उंगली फट जाएगी, जो थोड़ा-सा हास्यास्पद भी था। ट्रेनिंग के दौरान स्टार्क की गेंद पर मुझे इसी उंगली में चोट लगी थी और फिर शमी की गेंद पर लगी।

Also Read :  शिवपाल का फिर छलका दर्द कहा… कुचला भी मैं गया रौंदा भी मैं गया

फिंच ने कहा, “कुछ वर्षो पहले श्रीलंका में मेरी यह उंगली टूट गई थी। इसलिए या तो मुझे गेंदों को कैच करना होगा या अपने दस्तानों के बजाय बल्ले से खेलना होगा। पर्थ में दूसरी पारी से पहले मैंने ट्रेनिंग के दौरान बल्लेबजी की और मुझे अच्छा महसूस हो रहा था। कैच करना एक अलग चीज है, मैं ट्रेनिंग के दौरान हमेशा अपनी उंगलियों पर टेप लगाता हूं। लेकिन इस बार थोड़े अधिक पैड लगाए गए हैं। मैं समझता हूं कि मेलबर्न टेस्ट से पहले यह कट जाएगा।

 हर बल्लेबाज के शरीर पर गेंद लगी थी…

पर्थ में 14 से 18 दिसंबर तक खेले गए मैच में पहले दिन से आखिरी दिन तक असमान उछाल देखने को मिली थी। इसमें तकरीबन हर बल्लेबाज के शरीर पर गेंद लगी थी। ऑस्ट्रेलिया के एरॉन फिंच तो उंगली में चोट लगने के बाद रिटायर्ड हर्ट हुए थे, इसके बाद वे अगले दिन बल्लेबाजी करने के लिए उतरे थे। ऑस्ट्रेलिया के ही ओपनर मार्कस हैरिस की हेलमेट पर भी गेंद लगी थी।

नई स्टेडियम की पिच को ‘औसत’ रेटिंग दी

मैच रेफरी श्रीलंका के रंजन मदुगले ने इस पिच के बारे में आईसीसी को अपनी रेटिंग भेजी जिसमें उन्होंने पिच को औसत रेटिंग दी थी. क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया की वेबसाइट के मुताबिक, ‘यह पता चला है कि मैच रेफरी रंजन मदुगले ने पर्थ की नई स्टेडियम की पिच को ‘औसत’ रेटिंग दी है।

यह टेस्ट मैदान के लिए सबसे कम अंक के साथ के पास होना है.’ बताया जा रहा है कि यह असमान उछाल ही था जिसकी वजह से पर्थ टेस्ट के मैच रैफरी रंजन मदुगले ने पिच को औसत बताया था। गौरतलब है कि इससे पहले पिछले साल ही एशेज के मेलबर्न टेस्ट में पिच को खराब रेटिंग दी गई थी। मेलबर्न टेस्ट 26 दिसंबर से शुरू होगा. सीरीज फिलहाल 1-1 से बराबर चल रही है। साभार

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।)