आत्महत्या : दवाई लेने पर ठीक नहीं हुई खांसी तो युवक ने लगा ली फांसी

कमरे में फांसी पर लटका मिला

0 110

कानपुर से बड़ी खबर है। सचेंडी के बिनौर गांव में मंगलवार को हुई घटना ने लोगों को दहला दिया। एक सप्ताह से खांसी-जुकाम ठीक न होने पर पीड़ित युवक ने फांसी लगाकर जान दे दी। घरवालें ने डर की वजह से खुदकुशी करने की बात कही है तो ग्रामीण कुछ और ही बात कह रहे हैं। पुलिस ने घटना की पड़ताल और पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद मामला स्पष्ट करने की बात कही है।

कमरे में फांसी पर लटका मिला

सचेंडी थाना क्षेत्र के बिनौर गांव में रमेश चंद्र तिवारी का 28 वर्षीय बेटा मनीष तिवारी का शव मंगलवार की सुबह घर की दूसरी मंजिल पर कमरे में फांसी पर लटका मिला। उसकी मौत पर घर में कोहराम मच गया और आसपास के लोग एकत्र हो गए। पिता रमेश चंद्र तिवारी ने बताया कि एक सप्ताह पहले मनीष खुजराहो से घूम कर घर लौटा था। तभी से उसे रुक रुक कर खांसी आ रही थी।वह मेडिकल स्टोर से दवा लाया था लेकिन कोई फायदा नहीं मिला।

खांसी-जुकाम ठीक नहीं हो रहा था

पिता ने बताया कि उसका खांसी-जुकाम ठीक नहीं हो रहा था। इसी डर से सोमवार देर रात उसने घर की दूसरी मंजिल पर कमरे में रस्सी के सहारे फांसी लगा ली। मनीष तीन भाइयों में सबसे छोटा था, उससे बड़े आशीष और श्रीरीष दो भाई है। वहीं दूसरी ओर ग्रामीणों का कहना है कि मनीष खांसी जुकाम से भी डरा हुआ था। सोमवार रात किसी बात को लेकर उसका पिता से विवाद हुआ था। इसके बाद सुबह उसके खुदकुशी करने की जानकारी हुई है। सचेंडी एसओ ने बताया कि फिलहाल ऐसी कोई जानकारी नहीं है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर कार्रवाई की जाएगी।

यह भी पढ़ें: ‘बेबी डॉल’ की पार्टी से क्यों बढ़ी है कोरोना की दहशत!

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।)

Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More