शराब से हैं दूर फिर भी लीवर हो सकता है बीमार, जाने क्‍या है वजह

0 359

शराब पीने वालों को लीवर की बीमारी होने की आशंका अधिक होती है. लीवर की बीमारी के अधिकतर मामलों में शराब ही मुख्‍य कारण के रूप में सामने आता है. पर क्‍या आपको पता है कि जिसने कभी शराब को छुआ न हो उसे भी लीवर की गंभीर बीमारी हो सकती है. जी हां यह सच है. शराब न पीने वाले भी लीवर की बीमारी के चपेट में आ सकते हैं. जी हां मेडिकल साइंस में इस बीमारी को नॉन अल्‍कोहलिक स्‍टेप्‍टो हेपेटाइटिस (NASH) के नाम से जाना जाता है. 10 जून को पूरी दुनिया भर में NASH के प्रति लोगों को अवेयर करने के लिए इंटरनेशनल NASH डे मनाया जाता है.

आईएमएस बीएचयू के सीनियर गैस्‍ट्रोइंट्रोलॉजिस्‍ट प्रो वीके दीक्षित ने इस बीमारी के बारे में विस्‍तार से बताया. उन्‍होंने कहा कि सामान्य परिस्थितियों में एक स्वस्थ्य लिवर में बेहद कम वसा या फैट होता है. कभी कभी ऐसा होता है कि व्‍यक्ति के लीवर में फैट जमा हो जाता है. इस स्थिति के लिए यह जरूरी नहीं है कि वह व्‍यक्ति शराब पीता ही हो. लीवर की इस स्थिति को नॉन-अल्कोहालिक फैटी लिवर डिसीज या NAFLD कहते है. यह एक विस्‍तृत बीमारी है. जिसमें कई तरह की लिवर की बीमारियां शामिल होती है. NASH इसी फैटी लीवर डिसीज का गंभीर रूप है. जो फैटी लीवर डिजीज से पीडि़त 15-20 प्रतिशत लोगों को होता है. सही समय पर इलाज न होने पर NASH सीरोसिस और बाद में लिवर कैंसर का रूप ले सकता है.

ऐसे दिखें लक्षण तो हो जायें सतर्क हो सकते है बीमार

शुरूआती चरण में NAFLD के कोई विशिष्ट लक्षण नहीं होते, लेकिन कुछ लोगों को भूख कम लगने, सुस्ती और पेट में अनिश्चित दर्द जैसे लक्षण महसूस हो सकते हैं. NAFLD सामान्यतः शांत रहता है, लेकिन चिकित्सक की सलाह न मानने वाले लागों में यह बाद में लिवर फाइब्रोसिस और लिवर खराब होने की स्थिति और लिवर कैंसर तक का रूप ले सकता है. डॉक्‍टर के पास नियमित रूप से जाने का सुझाव दिया जाता है तथा लिवर एन्जाइम्स पर विशिष्ट प्रक्रिया एवं जाँच इसकी समय पर पहचान और नियंत्रण में सहायक होती है.

यह भी पढ़ें : कोरोना वैक्सीन के दोनों डोज ले चुके लोगों के लिए हवाई सफर आसान

NAFLD कुछ तथ्‍य

-दुनिया में 25.24 प्रतिशत लोग फैटी लिवर की बीमारी से पीडि़त हैं.
-सबसे ज्यादा NAFLD प्रकोप मीडिल ईस्‍ट में पाया गया है, जहाँ यह 31.79 प्रतिशत लोगों को प्रभावित करती है.
-साउथ अमेरिका में NAFLD से पीडि़त लोगों का प्रतिशत 30.45 है.
-अफ्रीफा में NAFLD से पीडि़त मरीजों की संख्‍या सबसे कम 13.48 प्रतिशत है.
-लगभग हर 4 में से 1 व्यक्ति को फैटी लिवर रोग है. उनमें 4 में से 1 व्यक्ति NAFLD (25-30 प्रतिशत) से पीड़ित है. उनमें से हर 5 में से 1 व्यक्ति (20-25 प्रतिशत) को NASH हो सकता है.
-70 प्रतिशत डायबिटीज पीड़ित और 80 प्रतिशत मोटापे तथा ज्यादा वजन से पीड़ित लोगों को फैटी लिवर है.

अगर आपको NASH है तो इनसे रखें परहेज

शराब न पियें, सैचुरेटेड वसा से बचें और लाल मांस न खायें, कम वसा वाले उत्पादों के अलावा अन्य सभी डेरी उत्पादों से बचें, जहां तक संभव हो सोडियम को सीमित करें, आहार में अतिरिक्त चीनी न मिलायें.
आपको कौन सी चीजें खानी चाहिए
ज्यादा से ज्यादा फल और सब्जियां खायें, फाइबर युक्त खाने की चीजें ज्यादा खायें और जैसे होल व्हीट ब्रेड ब्राउन राइस, रावस जैसी वसायुक्त मछलियाँ लिवर के लिए बेहद लाभकारी होती हैं, अपने आहार में फलियाँ, त्वचारहित चिकन टर्की, वसारहित सूअर का मांस शामिल करें, जो मांस के उत्तम विकल्प है.

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं। अगर आप डेलीहंट या शेयरचैट इस्तेमाल करते हैं तो हमसे जुड़ें।)

Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More