UP में दूसरे राज्यों से आने वाले श्रमिकों की स्किल मैंपिंग, पहली सूची तैयार

UP में दूसरे राज्यों से आने वाले श्रमिकों की स्किल मैंपिंग

0 382

उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव (गृह) ने बताया कि दूसरे राज्यों से आने वाले श्रमिकों की स्किल मैंपिंग (Skill Manping) कर पहली सूची तैयार कर ली गई है। उत्तर प्रदेश सरकार आने वाले हर श्रमिक एवं कामगार की सम्मानजनक व सुरक्षित वापसी करवा रही है।

सोमवार को लोकभवन में कोरोना वायरस के संबंध में किए गए प्रेस कांफ्रेंस में अपर मुख्य सचिव (गृह) अवनीश कुमार अवस्थी ने बताया कि दूसरे राज्यों से आने वाले हर कामगार व श्रमिकों को रोजगार मिले, इसके लिए सरकार ने श्रमिक (सेवायोजन एवं रोजगार) कल्याण आयोग के गठन की तैयारी शुरू कर दी है। संभवत: दो-तीन दिनों में यह प्रक्रिया पूरी कर ली जाएगी। अब तक 24 लाख से अधिक लोगों ने यूपी का रुख किया है।

हर हाथ को काम मिले, इसके लिए हमारा प्रयास जारी- सीएम

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि “सरकार का उद्देश्य है कि हर हाथ को काम मिले, इसके लिए हमारा प्रयास जारी है।”

इन श्रमिकों को पहली लिस्ट में किया गया शामिल

अपर मुख्य सचिव (गृह) ने बताया कि स्किल मैंपिंग की पहली लिस्ट में ही ऑटो मोबाइल व कार और बाइक रिपेयर से संबंधित 1527 श्रमिक आए हैं। इसी प्रकार 16 हजार 262 कारपेंटर, 9006 ड्राइवर, 1 लाख 52 हजार रियल स्टेट से संबंधित श्रमिक, 306 डाटा इंट्री अपरेटर, 4980 इलेक्ट्रीशियन, फर्नीचर फिटिंग में हुनरमंद 2234 श्रमिक, गारमेंट व टेलरिंग 12 हजार 103, 26 हजार पेंटर, हैंडी क्राफ्ट से संबंधित 1294 कारीगर, 424 नर्स, 202 संगीत शिक्षक और 3364 सिक्योरिटी गार्ड आए हैं।

सीएम योगी ने श्रमिकों को मानदेय भी देने के दिए निर्देश

उन्होंने बताया कि सोमवार को टीम 11 के साथ समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कामगारों व श्रमिकों की सुरक्षित वापसी, रोजगार उपलब्ध कराने, और माइग्रेशन कमीशन के गठन पर विस्तार से समीक्षा की।

अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री ने निर्देश दिया है कि दूसरे प्रदेश से आने वाले सभी श्रमिकों और कामगारों की स्किल मैपिंग करवाकर उनके स्किल के अनुसार उन्हें अप्रेंटिस भी कराया जाए। इस दौरान उन्हें मानदेय भी देने का निर्देश मुख्यमंत्री योगी ने दिया। हर जिले में श्रम व सेवायोजन कार्यालय में श्रमिकों व कामगारों का डाटा उपलब्ध कराने का निर्देश सीएम योगी ने दिया है।

उन्होंने बताया कि सभी श्रमिकों व कामगारों का बीमा कवर भी किया जाएगा। कामगारों व श्रमिकों को सोशल सिक्योरिटी की गारंटी पर ही अन्य राज्यों को आवश्यकतानुसार मैन पावर उपलब्ध कराया जाएगा। दूसरे राज्यों से आने वाले सभी श्रमिकों और कामगारों के लिए आवासीय व्यवस्था भी की जाएगी।

अपर मुख्य सचिव (गृह) ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी के निर्देश पर उत्तर प्रदेश के लिए लगातार श्रमिक स्पेशल ट्रेनों का परिचालन किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि सोमवार 2 बजे तक यूपी में 1174 ट्रेन आ गई हैं। इनमें 15 लाख 62 हजार लोग आए हैं। दो से तीन दिनों के अंदर 102 ट्रेनें आने वाली हैं। इसके अतिरिक्त भी ट्रेनों के आने की अनुमति दी गई है। इस प्रकार 1361 ट्रेनों की व्यवस्था कर दी गई है। 1361 ट्रेनों के माध्यम से 18 लाख लोगों के आने की व्यवस्था कर ली गई है।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं। अगर आप हेलो एप्पडेलीहंट या शेयरचैट इस्तेमाल करते हैं तो हमसे जुड़ें।)

Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More