navjot

नवजोत सिंह सिद्धू ने फिर पढ़े पाक के कसीदे

पंजाब सरकार में मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू का पाकिस्तान प्रेम थमने का नाम नहीं ले रहा है। हिमाचल के कसौली में लिटरेचर फेस्टिवल में सिद्धू ने फिर से पाकिस्तान की तारीफ में कसीदे पढ़े। लिटरेचर फेस्टिवल के पहले सत्र में चर्चा के दौरान नवजोत सिंह सिद्धू ने पाकिस्तान की अपनी यात्रा को दक्षिण भारत की यात्रा से बेहतर करार दिया।

पाकिस्तान का गुणगान करने की बजाए पाकिस्तान ही चले जाएं

नवजोत के पाकिस्तान प्रेम पर विपक्ष हमलावर हो गया है। हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने कहा कि सिद्धू पाकिस्तान ही चले जाएं तो अच्छा है। उन्होंने कहा, नवजोत सिंह सिद्धू जी यदि आतंकिस्तान (पाकिस्तान) और उसकी गोली की भाषा आपको इतनी ही अच्छी लगती है तो आप हिंदुस्तान में रह कर पाक एजेंट की तरह पाकिस्तान का गुणगान करने की बजाए पाकिस्तान ही चले जाएं तो अच्छा है।

सिद्धू को दुश्मन से इतना प्यार क्यों है?

वहीं, पंजाब के पूर्व उपमुख्यमंत्री और शिरोमणि अकाली दल के प्रमुख सुखबीर सिंह बादल ने सिद्धू को भारत में पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ISI का एजेंट बताया है। सुखबीर के अलावा केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने सिद्धू पर हमला करते हुए पूछा कि सिद्धू को दुश्मन से इतना प्यार क्यों है?

Also Read :  अखिलेश यादव के ‘महल में चलेगा ‘राजा भैया का राज!’

सिद्धू पर लगातार हो रहे हमलों के बीच कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा ने कहा, ‘कुछ भी कहने से पहले यह देखना पड़ेगा कि सिद्धू किस परिपेक्ष में यह बात कह रहे थे। हालांकि, वह मजाकिया किस्म के आदमी हैं , देखना होगा कि उन्होंने किस परिपेक्ष में कहा है।’कसौली में लिटरेचर फेस्टिवल में कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि आप पाकिस्तान में कहीं भी यात्रा कर लो, वहां न तो भाषा बदलती है, न ही खाना बदलता और न ही लोग बदलते हैं, जबकि दक्षिण भारत में जाने पर भाषा से लेकर खानपान तक सब कुछ बदल जाता है। आपको दक्षिण भारत में रहने के लिए अंग्रेजी या तेलुगु सीखनी पड़ेगी, लेकिन पाकिस्तान में ऐसा जरूरी नहीं है। सिद्धू के इस पाकिस्तान प्रेम को लेकर एक बार फिर से विवाद पैदा हो सकता है।

इससे पहले सिद्धू पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान के शपथग्रहण समारोह में हिस्सा लेने के लिए पाकिस्तान गए थे और वहां के आर्मी चीफ कमर जावेद बाजवा से गले मिले थे। इस दौरान सिद्धू ने बाजवा और पाकिस्तान की तारीफ में जमकर कसीदे भी पढ़े थे। साभार

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।)