2 से ज्यादा बच्चे पैदा किये तो होगी कठोर कार्रवाई, 125 सांसदों ने राष्ट्रपति को सौपा ज्ञापन

भारत में जनसंख्या नियंत्रण को लेकर हमेंशा से गहमा गहमी रही है। हर सरकार के सामने यह परेशानी रही कि भारत बढती जनसंख्या से कैसे निपटा जाए, सरकारों ने इसके लिए कई कानून बनाए।लेकिन वह सब फेल रहे।

Also Read :  राष्ट्रपति के सम्मान में नहीं खड़े होते है योगी के मंत्री

देश की बढती जनसंख्या चिंता का सबब

देश में जनसंख्या नियंत्रण को लेकर 125 से सांसदों ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात कर एक सख्त कानून बनाने की मांग की है। भाजपा समेत टीडीपी, शिवसेना और अन्य दलों के सांसदों ने राष्ट्रपति को एक ज्ञापन भी सौंपा है।

सांसदों ने शुक्रवार को राष्ट्रपति से मुलाकात कर जनसंख्या नियंत्रण पर कानून के मुद्दे पर चर्चा की।

चर्चा में भाजपा सांसद मीनाक्षी लेखी, उदय प्रताप सिंह, संजीव बालियान, लक्ष्मण यादव, शिवसेना के अरविंद सावंत, तेलगू देशम पार्टी (टीडीपी) के रामबाबू नायडू और जयदेव गल्ला, सुरेश अंगड़ी, समेत कई अन्य सांसद शामिल थे।

एक एनजीओ के साथ मिलकर तैयार हुए इस ज्ञापन में कई अहम बिंदूओं को रेखांकित किया गया है।

ज्ञापन के मुताबिक, अगर कोई भी माता-पिता तीसरा बच्चा पैदा करते हैं तो उनपर दंडात्मक कार्रवाई की जाए। इसके साथ ही उन्हें सरकारी नौकरी भी न दी जाए। इसके साथ ही तीसरे बच्चे को पैदा करने वाले अभिभावक से वोटिंग का अधिकार छीन लिया जाए। जाति धर्म से उपर उठकर यह कानून सभी देशवासियों पर लागू हो।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।