…तो मैं टीम की उम्मीदों पर खरा नहीं उतर पाऊंगा : शाकिब

बांग्लादेश के हरफनमौला खिलाड़ी शाकिब-अल हसन ने कहा कि टेस्ट क्रिकेट से ब्रेक लेने का फैसला उन्हें वापसी पर उनकी फॉर्म को और भी बेहतर बनाने में मदद करेगी। उल्लेखनीय है कि शाकिब अल-हसन ने बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड (बीसीबी) से टेस्ट प्रारूप से छह माह का ब्रेक लेने की मांग की थी, जिसे बोर्ड ने मंजूर कर लिया।

read more :  पत्नि कर रहीं थी खुले में शौच, पति को मिली ये सजा…

इस ब्रेक के कारण शाकिब अब दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेले जाने वाले दो टेस्ट मैचों की सीरीज के लिए बांग्लादेश टीम में उपस्थित नहीं रहेंगे।

read more :  ‘ढ़ोगी बाबाओं’ के बहुत गहरे है राजनैतिक संबध…

वेबसाइट ‘ईएसपीएनक्रिक इन्फो डॉट कॉम’ की रिपोर्ट के अनुसार, शाकिब ने कहा, “टेस्ट मैच में मुझे चारों पारियां खेलनी पड़ती हैं। अगर मैं आधा समय दे रहा हूं, तो मैं टीम की उम्मीदों पर खरा नहीं उतर पाऊंगा।”शाकिब ने कहा, “मुझे लगता है कि अगर मैं सभी चार पारियों में खेल पाता हूं, तो ही मेरे लिए टेस्ट मैच खेलना अच्छा रहेगा। मेरे लिए सिर्फ खेलने मात्र के लिए टेस्ट मैच में उतरना काफी नहीं। यह मेरा काम है, लेकिन अगर इस खेल के लिए मुझमें इसके प्रति रुचि, प्रेम और जुनून नहीं है, तो खेलने का कोई मतलब नहीं।”

read more :  ‘मुगलों’ ने हमारे देश को लूटा..’पूर्वजों’ ने नहीं : दिनेश शर्मा

उन्होंने कहा कि वह काफी समय से ब्रेक लेने के बारे में सोच रहे थे। इससे उन्हें उनकी फॉर्म को सुधारने में मदद मिलेगी। शाकिब ने कहा, “मैं पिछले 10-11 साल से नियमित तौर पर खेलता आ रहा हूं और मैं काफी मैच खेल चुका हूं। इस कारण मुझे अपनी फिटनेस पर ध्यान देने का मौका नहीं मिला। इसलिए मुझे लगता है कि मेरा ब्रेक लेना बनता है।”

read more :  अब सरकारी काम कराने में ‘नहीं घिसेंगे जूते’..पीएम ने किया…

ब्रेक लेने के आवेदन पर मिली आलोचनाओं के बारे में शाकिब ने कहा कि वह इन पर प्रतिक्रिया नहीं देना चाहते। शाकिब ने कहा, “मैं ही जानता हूं कि मेरा शरीर किन परेशानियों से गुजरा है। ब्रेक को लेकर लोगों के सवालों से मुझे काफी आश्चर्य हुआ। मेरे लिए सीमित ओवरों के प्रारूप में खेलना छुट्टी मनाने की तरह है और इसलिए, मैंने इन दोनों प्रारूपों से ब्रेक नहीं लिया।”

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।)