सचिन तेंदुलकर का वो विदाई भाषण, जिसने क्रिकेट प्रेमियों की आंखों को कर दिया था नम

0 260

महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने 2013 में आज ही के दिन यानी 16 नवंबर को अपने 24 साल के शानदार क्रिकेट करियर को अलविदा कह दिया था।

16 साल की उम्र में अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण करने वाले सचिन ने अपना आखिरी अंतर्राष्ट्रीय मैच अपने गृहनगर मुंबई के वानखेडे स्टेडियम में वेस्टइंडीज के खिलाफ खेला था।

इस टेस्ट मैच में सचिन ने 74 रनों की पारी खेली थी और वह नरसिंह देवनारायण की गेंद पर आउट हुए थे। भारत ने यह मैच पारी और 126 रनों से जीता था।

sachin tendulkar cricket

मैच के बाद उन्होंने शानदार भाषण दिया था जिसने पूरे विश्व भर के क्रिकेट प्रेमियों को भावुक कर दिया था।

सचिन तेंदुलकर का अंतिम भाषण-

उस भाषण में सचिन ने कहा था, “22 यार्ड और 24 साल के बीच में जो मेरी जिंदगी रही, यह विश्वास करना मुश्किल है कि वो सफर खत्म हो चुका है।”

उन्होंने कहा था, “मैं आप सभी का अपने दिल से शुक्रिया कहना चाहता हूं। साथ ही कहना चाहता हूं कि समय बहुत जल्दी बदलता है लेकिन आपने मेरे पास जो यादें छोड़ी हैं वह हमेशा के लिए मेरे साथ रहेंगी। खासकर, सचिन, सचिन की गूंज जो आखिरी सांस तक मेरे कानों में गूंजती रहेगी।”

ऐसा है सचिन का क्रिकेट करियर-

सचिन ने अपने अंतर्राष्ट्रीय करियर में 200 टेस्ट, 463 वनडे और एक टी-20 मैच खेला है। वह पहले ऐसे बल्लेबाज हैं जिन्होंने अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर कुल 100 शतक बनाए हैं।

वनडे में उन्होंने 18, 426 रन बनाए हैं जिसमें 49 शतक शामिल हैं। टेस्ट में उनके नाम 15, 921 रन हैं। खेल के सबसे लंबे प्रारूप में उन्होंने 51 शतक लगाए हैं।

उन्होंने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 2006 में एक मात्र टी-20 मैच खेला था जिसमें उन्होंने सिर्फ 10 रन बनाए थे।

यह भी पढ़ें: धोनी की तरह फिनिशर बनना चाहती हैं यह महिला खिलाड़ी

यह भी पढ़ें: विराट ने सचिन की तारीफ में पढ़े कसीदे, 2011 विश्व कप के पलों को किया याद

-Adv-

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं। अगर आप डेलीहंट या शेयरचैट इस्तेमाल करते हैं तो हमसे जुड़ें।)

Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More