लखनऊ की रॉकेट विमेन रितु श्रीवास्तव हैं चंद्रयान-2 की मिशन डायरेक्टर

चंद्रयान-2 चांद छूने को तैयार है। पूरी दुनिया भारत की तरफ है। अंतरिक्ष विज्ञान के क्षेत्र में एक और उपलब्धि का जश्न मनाने के लिए देश तैयार है। इस जश्न के बीच में इतरा रहा है लखनऊ। इसकी वजह है कि यहां के आंगन में पली-बढ़ी और पढ़ी बेटी इसरो की सीनियर साइंटिस्ट रितु करिधाल श्रीवास्तव चंद्रयान-2 की मिशन डायरेक्टर हैं।

लखनऊ की बेटी रितु श्रीवास्तव को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बधाई दी। रितु श्रीवास्तव की पहचान एक रॉकेट विमेन के रूप में है। उनका मानना है कि यूं तो बेटियां अपने बूते आगे बढ़ रही हैं लेकिन अभी उन्हें और सपोर्ट की जरूरत है।

लखनऊ के एक मध्यमवर्गीय परिवार में जन्मीं रितु ने एक इंटरव्यू में बताया कि मम्मी-पापा का पूरा फोकस पढ़ाई पर रहा। मम्मी मेरे साथ रात-रात भर जागतीं ताकि मुझे डर न लगे। तारों ने हमेशा मुझे अपनी ओर खींचा। मैं हमेशा सोचती कि अंतरिक्ष के अंधेरे के उस पार क्या है।​ विज्ञान मेरे लिए केवल एक विषय नहीं, जुनून था।

यह भी पढ़ें: चंद्रयान-2 मिशन को भारत अकेले देगा अंजाम !

यह भी पढ़ें: एक बार फिर टाल दिया गया मिशन चंद्रयान-2

 

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।)