Congress leaves 7 Lok Sabha seats for SP-BSP RLD alliance

विपक्ष गौर करे, पार्टी व्यक्ति से बड़ी होती है या देश…

सुधीर गणोरकर

लोकसभा चुनाव के जो परिणाम सामने आये हैं, उससे तो यही साबित होता है कि विपक्ष खासतौर पर कांग्रेस का नेतृत्व इस बात पर गौर करे कि पार्टी व्यक्ति से बड़ी होती है और सबसे बड़ा होता है देश। “चौकीदार चोर है” का नारा इनके लिए अभिशाप बन गया।

वैसे पार्टी को नेतृत्व किसी और को सौपना चाहिए क्योंकि राहुल जी पार्टी के नेता कम सोनिया जी व राजीव जी के पुत्र के रूप में ज्यादा पहचाने जाते हैं, उनमें परिपक्वता की भी कमी है। उनकी बात आम जनता की समझ में नहीं आती क्योंकि वह आम जिन्दगी से जुड़ी न होकर व्यक्ति से जुड़ी होती है और आखिर कब तक खानदान के नाम पर वोट मांगेंगे भाई।

 ये भी पढ़ें: BJP ने दी कांग्रेस के दिग्गजों समेत यादव परिवार को करारी मात 

आपकी अपनी पहचान क्या है?

यही कि आप नेहरू जी, इंदिरा जी, राजीव जी के खानदान के अंतिम (अभी तक) वारिस हैं। लगभग यही हाल सपा का है। वह पार्टी भी परिवार तक ही सीमित है। इसके अलावा हर बात का सबूत मांगना भी इनपर भारी पड़ गया। ऐसे में जनता को तो तय करना ही था कि देश को सही रूप से चलाने के लिए पूर्ण बहुमत की सरकार केवल राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन ही दे सकता है इसलिए उसे ही वोट कर मोदी जी को प्रधानमंत्री बनाओ और जनता ने वही किया। अन्य पार्टियों ने जिसे बेवकूफ समझा उसने उसे ही उसकी औकात बता दी।

(ये लेखक के निजी विचार हैं)