रेपो रेट में कटौती से आम आदमी को क्या फायदा!

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने रेपो रेट में 0.25% कटौती की गई है। अब यह 6% से घटकर 5.75% हो गया है। इसका मतलब है कि अब बैंक जब भी RBI से फंड लेंगे तो उन्हें नई दर पर फंड मिलेगा।

सस्ती दर पर बैंकों को फंड मिलेगा तो इसका फायदा बैंक अपने उपभोक्ता को भी देंगे। आम आदमी के लिए कर्ज लेना सस्ता हो जाता है। साथ ही जो कर्ज फ्लोटिंग हैं उनकी ईएमआई भी घट जाती है।

क्या है रेपो रेट—

जिस रेट पर RBI कमर्शियल बैंकों और दूसरे बैंकों को लोन देता है उसे रेपो रेट कहते हैं। रेपो रेट कम होने का मतलब यह है कि बैंक से मिलने वाले लोन सस्ते हो जांएगे। रेपो रेट कम होने से होम लोन, व्हीकल लोन वगैरह सभी सस्ते हो जाते हैं।

आम आदमी को क्या फायदा—

रेपो रेट कम होने से प्रत्यक्ष तौर पर बाकी बैंकों पर वि​त्तीय दबाव कम होता है।

आरबीआई की तरफ से हुई रेपो रेट में कटौती के बाद बाकी बैंक अपनी ब्याज दर में कटौती करते हैं।

इस वजह से आम आदमी को लोन की ईएमआई में कमी आ जाती है।

रेपो रेट कम होने से देश की अर्थव्यवस्था को बड़े स्तर पर फायदा मिलता है।

इससे महंगाई पर नियंत्रण लगता है।

यह भी पढ़ें: RBI जल्द जारी करेगा 200 और 500 रुपये के नए नोट

यह भी पढ़ें: इस रविवार को खुले रहेंगे बैंक, ये है उसकी वजह!

 

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।)