rajabhaiya

‘जनसत्ता दल’ होगा राजा भैया की नई पार्टी का नाम..!!

प्रतापगढ़ के बाहुबली पूर्व मंत्री रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भैया (raja bhaiya) ने नई पार्टी के लिए शपथ पत्र चुनाव आयोग में दाखिल कर दिया है। राजा भैया की नई पार्टी का नाम ‘जनसत्ता दल’ हो सकता है। राजा भैया अपने राजनीतिक जीवन के 25 साल पूरे होने पर उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में 30 नवंबर को रैली करेंगे।

राजा भैया के नई पार्टी के आवेदन की कार्रवाई पूरी हो चुकी है। राजा भैया ने  बुधवार को अपनी नई पार्टी के लिए शपथ पत्र दाखिल कर दिया है। जानकारी के अनुसार राजा भैया की तरफ से अक्षय प्रताप उर्फ गोपाल ने मंगलवार को आवेदन किया है।

30 नवम्बर को लखनऊ में रैली कर राजा भैया पार्टी ऐलान करेंगे

बता दें कि पिछले कई महीनों से राजा भैया के समर्थक पार्टी बनाने को लेकर जनता के बीच सर्वे कर रहे थे। उधर राजनीतिक गलियारों में राजा भैया के नई पार्टी बनाने की सुगबुगाहट तेज हो गई थी। साथ ही कई कई दलों के लिए मुश्किलें खड़ी होने वाली हैं। बता दें कि राजा भैया प्रतापगढ़ के कुंडा विधानसभा से विधायक हैं।

सपा के लिए बड़ा झटका

समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव की मुश्किलें हैं कि थमने का नाम नहीं ले रही हैं। सपा के लिए इसे बड़ा झटका माना जा रहा है। चाचा शिवपाल यादव के बाद अब सपा के लिए लगातार ये दूसरा बड़ा झटका है। दरअसल रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भैया की इस कवायद को सवर्णों को लामबंद करने की मुहिम के रूप में देखा जा रहा है।

बता दें कि राज्यसभा चुनाव के दौरान क्रॉस वोटिंग को लेकर सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव से हुए मतभेद के बाद से ही वे नई सियासी जमीन तलाश रहे हैं। कहा जा रहा है कि सपा से रिश्ते खराब होने के बाद राजा भैया का यह बड़ा सियासी दांव है। वैसे राजा भैया बीजेपी और सपा सरकार में मंत्री रह चुके हैं।

लेकिन योगी सरकार में उनकी एंट्री मंत्रिमंडल में नहीं हो सकी है। राजा भैया लगातार आठवीं बार विधायक हैं। 1993 से वह कुंडा से निर्दलीय जीतते आ रहे हैं। 1997 में बीजेपी की कल्याण सिंह की सरकार में वह पहली बार मंत्री बने थे। 2002 में बसपा सरकार में विधायक पूरन सिंह बुंदेला को धमकी देने के मामले में उन्हें जेल जाना पड़ा था।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।)