राहुल ने स्वीकारा राज्यपाल का निमंत्रण, पूछा – कब आ सकता हूं कश्मीर?

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने जम्मू कश्मीर जाने की अपनी मांग बुधवार को फिर दोहरायी और राज्यपाल सत्य पाल मलिक से पूछा कि वह कब आ सकते हैं।

गांधी ने कहा कि उन्होंने जम्मू कश्मीर आने और लोगों से मिलने का मलिक का निमंत्रण बिना किसी शर्त के स्वीकार कर लिया है। उन्होंने अपने ट्वीट पर राज्यपाल मलिक के जवाब को ‘सतही’ बताया।

उन्होंने कहा, ‘प्रिय मलिक जी, मैंने अपने ट्वीट पर आपका सतही जवाब देखा। मैं जम्मू कश्मीर आने और लोगों से मिलने के आपके निमंत्रण को बिना किसी शर्त के स्वीकार करता हूं। मैं कब आ सकता हूं?’

राज्यपाल ने लगाया था शांति भंग करने का आरोप-

मलिक ने राज्य का दौरा करने के लिए पूर्व शर्तें लगाने को लेकर मंगलवार को कांग्रेस नेता की आलोचना की और आरोप लगाया कि गांधी विपक्षी नेताओं का प्रतिनिधिमंडल लाने की मांग कर अशांति पैदा करने की कोशिश कर रहे हैं।

कश्मीर में हिंसा की खबरों संबंधी गांधी के बयान पर मलिक ने सोमवार को कहा था कि वह राहुल गांधी के लिए एक विमान भेजेंगे ताकि वह घाटी का दौरा करें और जमीनी हकीकत जानें।

राज्यपाल ने एक बयान में कहा कि गांधी ने यात्रा के लिए कई शर्तें रखी थीं जिनमें नजरबंद मुख्यधारा के नेताओं से मुलाकात भी शामिल है।

कांग्रेस ने राज्य का दौरा करने के प्रस्ताव पर ‘यू-टर्न लेने’ के लिए राज्यपाल पर पलटवार किया और कहा कि उन्हें अपनी बात पर कायम रहना चाहिए।

यह भी पढ़ें: राहुल-सोनिया ने कहा – कांग्रेस अध्यक्ष चुनने में हमारा क्या काम?

यह भी पढ़ें: एक बार फिर सोनिया गांधी ने संभाली कांग्रेस की बागडोर

 

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।)