राहुल के गले लगने पर बोले प्रधानमंत्री…

नई दिल्ली- प्रधान मंत्री मोदी ने शनिवार को कहा कि पिछले एक साल में एक करोड़ से ज्यादा के रोजगार पैदा हुए है। विपक्ष को नौकरिया नहीं देने का दुष्प्रचार बंद कर देना चाहिए। प्रधानमंत्री ने राहुल गांधी समेत विपक्ष के कई नेताओं पर जमकर निशाना साधा।

Also Read :  राष्ट्रपति के सम्मान में नहीं खड़े होते है योगी के मंत्री

प्रधान मंत्री ने दिए सवालों के जवाब…

1- राहुल गांधी के गले लगने को आप कैसे देखते है

प्रधानमंत्री- यह आप तय करे कि गले लगने की हरकत बचाकाना थी या नहीं। अगर आप तय नहीं कर पा रहे तो आंख मारने वाली घटना देखे। जवाब मिल जाएगा।

2- राहुल ने जीएसटी को गब्बर सिंह टैंक्स कहा इसपर आप क्या कहेंगे

गुजरात चुनाव के दौरान भी लोगों ने जीएसटी के खिलाफ लोगों को भड़काने का भरकस प्रयास किया था पर लोगों ने उसे खारिज कर दिया।

3-इमरान खान पाकिस्तान के प्रधानमंत्री बनने वाले है , आपने उनसे बात की बधाई दी, इमरान ने भारत से बातचीत की पेशकश की है। क्या आप बात करेंगे…

मैने हमेंशा से ही पडोसियों से बेहतर रिश्ते रखना चाहता हूं। इसके लिए हमने कई कदम उठाए।मैने उनसे बात कर उन्हें बधाई भी मै उनसे उम्मीद करता हूं कि पाकिस्तान को हिंसा मुक्त देश बनाए।

4-आप पर और भाजपा पर महिलाओं पर अत्याचार और लिंचिंग जैसी घटनाओं पर चुप्पी के आरोप भी लग रहे हैं?

महिलाओं के खिलाफ अपराध और लिंचिंग की एक घटना दुखद है समाज में शांति और एकता के लिए सबको राजनीति से उपर उठना चाहिए

5- क्या सरकार जाति आधारित आरक्षण व्यवस्था खत्म करने का विचार कर रही है..

आरक्षण व्यवस्था खत्म नहीं होगी। इसे लेकर कोई संदेह नहीं होना चाहिए।

6-सवाल: क्या एनडीए के छोटे सहयोगी भाजपा में भरोसा खाेते जा रहे हैं?

इसका जवाब पिछले दिनों की दो घटनाओं से मिलेगा। पहला लोकसभा में पेश अविश्वास प्रस्ताव और दूसरा राज्यसभा में उपसभापति चुनाव। इनके परिणामों से साफ है कि कौन-सा गठबंधन अटूट है और कौनसा बिखर रहा है।

हमें तो उन दलों ने भी समर्थन दिया, जो हमारे सहयोगी नहीं हैं। एनडीए में नए सहयोगियों का स्वागत है। विपक्ष का महागठबंधन विकास नहीं, बल्कि वंशवाद से जुड़ा है। इसे लेकर सिर्फ एक ही सवाल है कि यह चुनाव के बाद बिखरेगा या उससे पहले?

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं।